रुड़की: कोरोना के कारण कई शादियां रद्द हो गई हैं। जनजीवन जैसे थम से गया है। लोग घरों में कैद हैं। घरों से बाहर निकलने पर लाॅकडान के कारण पूरी तरह पाबंदी है। 10 से ज्यादा लोगों के साथ जमा होने पर रोक लगाई गई है। कोरोना के कारण रुड़की के नारसन में दुल्हन सज-धजकर दूल्हे को इंतजार करते रहे। लेकिन, दूल्हा नहीं बारात लेकर नहीं पहुंचा।

दुल्हन के घर बारात के स्वागत की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। दुल्हन हाथों में मेहंदी लगाकर सज चुकी है, बारात के लिए कई तरह के पकवान भी बनाए गए। बारात ने आना था, लेकिन कोरोना ने बारात की राह रोक ली। लॉकडाउन के कारण अनुमति नहीं मिलने से दूल्हा पक्ष बरात लेकर नहीं पहुंच पाया।

नारसन क्षेत्र के मोहम्मदपुर जट्ट निवासी एक व्यक्ति ने अपनी बेटी की शादी करीब छह महीने पहले ज्वालापुर क्षेत्र में तय की थी। 25 मार्च को शादी होनी थी। बारात के स्वागत की तैयारी के बीच दूल्हे पक्ष के लोगों का फोन आया कि लॉकडाउन के कारण बरात ले जाने के लिए प्रशासन से अनुमति मांगी गई है, लेकिन अभी तक अनुमति नहीं मिली है। यह सुनते ही दुल्हन पक्ष के लोगों के होश उड़ गए।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top