हरिद्वार : दुनिया भर में कोरोना की दहशत जारी है। कोरोना के प्रकोप से 4600 से ज्यादा मौते हो चुकी है। वहीं विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी इसे महामारी का नाम दे दिया है। वहीं कोरोना का प्रकोप भारत में भी देखने को मिलने लगा है। अभी तक 70 से ज्यादा मरीजों में वायरस की पुष्टि हुई है। और देश में सरकार ने अलर्ट जारी कर दिया है। वहीं कोरोना वायरस की दहशत उत्तराखंड में भी देखने को मिलने लगी है। इसी के चलते प्रदेश भर के स्कूल 31 मार्च तक के लिए बंद कर दिए गए हैं। वहीं कोरोना पर उत्तराखंड के मंत्री-विधायक और बाबा अपना ज्ञान बांट रहे हैं. इनका कहना है कि यज्ञ करने से और गाय का मूत्र पीने से कोरोना का कहर खत्म हो जाता है। लक्सर विधायक का कहना है कि गौ मूत्र पीने और गाय के गोबर से नहाने से कोरोना का वायरस खत्म हो  सकता है। ऐसे में एक बाबा का भी करोना वायरस से बचाव के लिए एक बयान सामने आया है। 

हर की पौड़ी के पास एक महायज्ञ का आयोजन

आपको बता दें कि धर्मनगरी हरिद्वार में इस समय हर की पौड़ी के पास एक महायज्ञ का आयोजन किया जा रहा है, जिसमें बंसी वाले बाबा के लाखों भक्त इस महायज्ञ में शामिल हो रहे हैं। करोना वायरस महामारी से जहां लोग अपने घरों में बैठेने को मजबूर हैं और लगातार कई आयोजनों को निष्कासित भी किया जा रहा है। वहीं इस महायज्ञ में लोग बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं।

कोरोना वायरस पर बाबाओं का ज्ञान

महामंडलेश्वर कैलाशानंद भ्र्मचारी का कहना है कि गंगा किनारे सभी वायरस अपने आप नष्ट हो जाता है क्योंकि गंगाजल से संपर्क में आने से सभी वायरस समाप्त हो जाते हैं वही महायज्ञ में शामिल होने वाली आहुति जड़ी बूटी आदि से वातावरण को शुद्ध किया जा रहा है ,जिससे कि करोना वायरस ना फैले ,हमारी भारतीय संस्कृति में योग, यज्ञ और गंगा तीनो को वरदान है ,जिनसे बड़ी से बड़ी बीमारी वायरस समाप्त हो जाते हैं। इसीलिए आप देख सकते कि बेखौफ होकर लाखों लोग इस आयोजन में शामि हो रहे हैं।

ईश्वर की साधना भक्ति से हम किसी भी मुसीबत से लड़ सकते-बंसी वाले

वहीं बंसी वाले बाबा ने बताया कि उन्होंने इसका आयोजन देश सुख समृद्धि के लिए किया है। उनका मानना है कि ईश्वर की साधना भक्ति से हम किसी भी मुसीबत से लड़ सकते हैं। 





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top