देहरादून : कोरोना के कहर के बीच वर्दी धारी की एक दिल को छू जाने वाली तस्वीर सामने आई है। इस पोस्ट को उत्तराखंड पुलिस ने अपने फेसबुक वॉल पर शेयर किया है। तस्वीर को देख हर किसी का दिल सहम गया और आंखें नम हो गई.

दारोगा की दिल को छू लेने वाली तस्वीर

कोरोना के कहर के बीच लोगों को इससे बचाने के लिए सरकार के साथ डॉक्टर्स, पुलिस और मीडिया दिन रात एक कर काम कर रही है। बात करें पुलिस वालों की तो दिन रात पुलिसकर्मी सड़कों पर खड़े हैं और लोगों से अपने घरों में रहने की अपील कर रहे हैं। साथ ही नियमों का उल्लंघन करने वालों पर कार्रवाई कर रहे हैं। लेकिन इस बीच एक उत्तराखंड पुलिस के दारोगा की दिल को छू लेने वाली तस्वीर सामने आई है।

उत्तराखंड पुलिस ने जानकारी दी कि कैसे ड्यूटी कर जब वर्दी धारी अपने घर जाता है तो अपनों से ही दूरी बनाकर रखते हैं और खाना खाते हैं। बच्चे पिता को देख दौड़ पड़े। अपनी परवाह न करते हुए दिन रात सड़कों पर तैनात है। पुलिस के जवान आपकी सेवा व सुरक्षा में खुद की परवाह न करते हुए तन्मयता से लगे हुये हैं। हमारे जवान कर्तव्य और रिश्तों के बीच कश्मकश में हमेशा कर्तव्य को अहमियत देते हैं।

उत्तराखंड पुलिस की पोस्ट

उत्तराखंड पुलिस ने जानकारी दी कि ये दारोगा देहरादून के लक्ष्मणचौक चौकी में तैनात SI लोकेन्द्र बहुगुणा हैं जो कि 6 दिन बाद पहली बार अपने दो मासूम बच्चों और पत्नी से मिलने घर गये। घर पहुंचे तो बच्चे अपने पिता को इतने दिन बाद देख दौड़ पड़े। परंतु लोकेन्द्र बहुगुणा घर के बाहर ही रहे और बच्चों को 10 फिट दूर दरवाजे से ही देखते रहे। एक सप्ताह में हजारों लोगों के संपर्क में आये होंगे तो अपने परिवार की सुरक्षा के लिए अपने ही घर से गैर बन गए और बाहर आंगन में बैठकर पत्नी और बच्चों से बातचीत की। पत्नी ने खाना भी बाहर ही रख दिया जिसे कुछ मिनटों में खाकर वे फिर से अपने कर्तव्य आपकी सुरक्षा के लिए सड़कों पर उतर आए।

आपकी सुरक्षा में लगे हमारे जवान अगर सोशल डिस्टेंस को अपना सकते हैं, तो आप क्यों नहीं। आपसे विनम्र अनुरोध है कृपया लॉकडाउन के निर्देशों और सोशल डिस्टेंसिंग का गंभीरता से पालन करें। यह आप और आपके परिवार की सुरक्षा के लिए है।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top