हल्द्वानी : रुद्रपुर, सितारगंज और नैनीताल में स्थापित औद्योगिक इकाईयों में लॉक डाउन के दौरान श्रमिकों के शोषण के खिलाफ सितारगंज के पूर्व विधायक नारायण पाल ने श्रम आयुक्त कार्यालय के बाहर धरना दिया। नारायण पाल ने कहा कि जिस तरह केंद्र और राज्य सरकार श्रमिक हितों की बड़ी-बड़ी बातें कर रही है उसका कोई असर औद्योगिक इकाइयों पर नहीं पड़ रहा है। राज्य में उधम सिंह नगर और नैनीताल जिले में स्थापित औद्योगिक इकाइयों ने श्रमिकों का जमकर शोषण किया है।

पूर्व विधायक ने कहा कि लॉक डाउन के दौरान न तो उन्हें रोजगार मिल रहा है और ना ही पुराना वेतन दिया गया है, ऐसे में वर्तमान राज्य सरकार श्रमिक हितों में कुठाराघात करने में लगी है। जिसके विरोध में आज वो धरने पर बैठे हैं।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top