देहरादून : कोरोना को लेकर उत्तराखंड से राहत भरी खबर आ रही है। आंकड़ों के अनुसार उत्तराखंड में अब तक लगभग 50% कोरोना मरीज ठीक हो कर घर जा चुके हैं जो कि उत्तराखंड के लिए अच्छी खबर है। इसके लिए सभी कोरोना योद्धाओं को सलाम है जो दिन रात जग में डटे हुए हैं. वहीं अच्छी खबर ये भी है कि उत्तराखंड में हर 15 दिन में एक कोरोना मरीज ठीक होकर घर जा रहा है। वहीं बता दें कि बीते दिन एक 9 माह के बच्चे ने भी कोरोना की मात दी।

इन जिलों में कितने मरीज हुए ठीक

स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी बुलेटिन के अनुसार बुधवार को चार और मरीज ठीक हो घर चले गए हैं। इनमें नैनीताल के 3 व ऊधमसिंहनगर जिले का एक मरीज शामिल है।

 कोरोना से जंग जीत रहा उत्तराखंड

इन आंकड़ों को देखकर साफ तौर पर कहा जा सकता है कि उत्तराखंड कोरोना से जंग जीत रहा है बस जरूरत है तो लोगों को साथ देने की. बता दें कि राज्य में कोरोना संक्रमित कुल 47 मामले सामने आए हैं जिनमें से में से 23 मरीज स्वस्थ होकर अपने घरों को लौट गए। बता करें देहरादून की तो दून में अब तक 24 में से 11 मरीज ठीक होकर घर जा चुके हैं। नैनीताल में 9 मरीजों में से 6 को छुट्टी मिल गई है। ऊधमसिंहनगर में भी 4 मरीज अब ठीक हो चुके हैं। वहीं, पौड़ी में एक ही मरीज सामनेे आया था जो की दुगड्डा का रहने वा था जो कि स्वस्थ है और घर जा चुका है।

दून अस्पताल में भर्ती 9 माह का बच्चा छह दिन में ठीक हुआ

दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कोरोना संक्रमित 9 माह का बच्चा छह दिन में ठीक हो गया है। उत्तराखंड में कोरोना से सबसे कम समय में ठीक होने वाला मरीज बन गया है। इससे पहले एक ट्रेनी आईएफएस 7 दिन में कोरोना से ठीक हुआ था। हिंदुस्तान की खबर के अनुसार डिप्टी एमएस और स्टेट कोरोना कॉर्डिनेटर डा. एनएस खत्री के मुताबिक बच्चे की दो रिपोर्ट लगातार नेगेटिव आने के बाद गुरुवार को डिस्चार्ज कर दिया गया। भगत सिंह कालोनी की मस्जिद कर्मचारी को कोरोना हो गया था। उनके संपर्क में आने से बच्चे को कोराना हुआ। 17 अप्रैल को बच्चे को भर्ती कराया गया था। किया।

उत्तराखंड में कोरोना के मरीज 15 दिनों में ठीक हो रहे

उत्तराखंड में कोरोना के मरीज 15 दिनों में ठीक हो रहे हैं। अब तक प्रदेश में कोरोना पॉजीटिव मिले पचास फीसदी से अधिक मरीज डिस्चार्ज हो चुके हैं। 62 साल के बुजुर्ग भी केवल सत्रह दिन में कोरोना वायरस से मुक्त होकर अस्पताल से डिस्चार्ज हो चुके हैं। दरअसल डॉक्टरों की ओर से इलाज की गाइडलाइन का सख्त अनुपालन, बेहतर निगरानी, जांच व इम्युनिटी बढ़ाने पर हो रहे फोकस के कारण मरीज इतनी तेजी से रिकवर करते हुए कोरोना को मात दे पाए हैं।

कई जिले ग्रीन जोन में

आपको बता दें कि उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग, उत्तरकाशी, पौड़ी, अल्मोड़ा, बागेश्वर ग्रीन जोन में है। वहीं देहरादून हरिद्वार और नैनीताल रेड जोन में है।

खबर उत्तराखंड उन सभी कोरोना योद्धाओं को सलाम करता है जो इस है जो इस है जो इस घातक वायरस से लोगों को बचाने के लिए दिन रात सड़कों पर, अस्पतालों में, दफ्तरों में, गली मोहल्लों में ड्यूटी कर रहे हैं।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top