लखीमपुर खीरी: निघासन क्षेत्र के झंडीराज गांव में हुई एक शादी में सामाजिक दूरी का पूरी तरह पालन किया गया। विवाह समारोह में सिर्फ पांच बराती शामिल हुए और सभी के हाथ-मुंह धुलवाए गए। बाद में बाइक से दुल्हन को विदा कराकर दूल्हा रवाना हुआ। सिंगाही क्षेत्र के गांव प्रेमनगर निवासी गुड्डन ने बताया कि करीब पांच माह पहले उनके बेटे संतराम की शादी निघासन क्षेत्र के झंडीराज निवासी अर्जुन लाल की पुत्री आरती के साथ तय हुई थी।

अमर उजाला डॉट कॉम की खबर के अनुसार बरात ले जाने के लिए गुड्डन ने चार पहिया वाहन के अलावा दूल्हे के लिए लग्जरी गाड़ी भी बुक कराई थी। लॉकडाउन के चलते कार के लिए मना कर दिया गया। बरात ले जाने के लिए रिश्तेदारों की पांच बाइक ली। संतराम, उसके बहनोई राहुल और भाई उमाशंकर सहित पांच बराती मास्क लगाकर बाइक से बरात लेकर पहुंचे। हालांकि बाइक पर सोशल डिस्टेंस नजर नहीं आया. 

बरात पहुंचते ही परिवार के लोग हाथ धोने के लिए साबुन आदि लेकर आ गए और बरातियों के हाथ धुलवाने के बाद वह लोग घर के अंदर गए। विवाह संपन्न होने के बाद दुल्हन को बाइक पर विदा कराकर दूल्हा रवाना हुआ। जब दुल्हन को लेकर संतराम अपने घर पहुंचा तो उसकी मां ने दुल्हन का पहले हाथ-मुंह धुलवाया और उसके बाद आरती उतारी।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top