हल्द्वानी: नेता प्रतिपक्ष इंदिरा ह्रदयेश ने सरकार के प्रति कड़ी नाराजगी जाहिर करते हुए कहा की जिस प्रकार से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विपक्ष के नेताओं को विश्वास में लेकर काम कर रहे हैं। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत सत्ता को देखकर ऐसा लगता है की सत्ता के अहंकार में हैं। विपक्ष के साथियों से इस संकट की घड़ी में बात करने को भी तैयार नहीं है।

 

इंदिरा हृदयेश का कहना है कि सरकार ने विपक्ष को विश्वास में लिए बगैर ही विधायकों की विधायक निधि और वेतन का कुछ हिस्सा काट लिया है। विपक्ष सरकार के साथ संकट की इस घड़ी में पूरी मजबूती से खड़ा है, लेकिन सरकार का भी फर्ज बनता है कि वो विपक्ष को विश्वास में लेकर फैसले ले। ये नहीं कि बिना विपक्ष को साथ लिए अकेले ही फैसले करें। हमारे विधयकों ने सरकार के फैसले से पहले ही विधयक निधि से 20 लाख तक दे दिए थे. लोगों के मदद के लिए लगातार खड़े हैं.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top