देहरादून : हमारा देश एकता और अखंडता समेत सांप्रदायिक के नाम से जाना पहचाना जाता है। लेकिन कुछ ऐसे लोग भी देश के अंदर छुपे हैं जो की देश की एकता अखंडता को चूर चूर करना चाहते हैं। उनमे से एक हैं उत्तराखंड बदरीनाथ से भाजपा विधायक महेंद्र भट्ट..

देवभूमि में नई मस्जिदों के निर्माण पर रोक लगानी चाहिए-भट्ट

जी हां बता दें कि बदरीनाथ विधानसभा सीट से भाजपा विधायक लगातार राज्य के लोगों में फूट डालने की कोशिश करते आए हैं। इससे पहले उन्होंने लॉकडाउन के दौरान ही कहा था कि नजीमाबाद से आने वाली न खाने की अपील की थी। वहीं इससे पहले राज्य में मस्जिद निर्माण पर रोक लगाने की सरकार से अपील भी विधायक ने की थी, जिसके बाद उन्होंने फेसबुक पर एक और पोस्ट की है जो कि एकता अखंडता को खंडित करने का काम कर रहे हैं। उन्होंने पोस्ट शेयरकरते हुए लिखा था किउत्तराखंड को देवभूमि कहा जाता है और अब सरकार को देवभूमि में नई मस्जिदों के निर्माण पर रोक लगानी चाहिए।

महेंद्र भट्ट ने कहा था-नजीबाबाद से पहाड़ों पर आ रही सब्जी न खरीदें

दरअसल, देश के साथ ही उत्तराखंड में जमातियों के कारण कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में हुई वृद्धि से नाराज महेंद्र भट्ट ने कुछ दिन पहले सोशल मीडिया पर लोगों से अपील की थी कि नजीबाबाद से पहाड़ों पर आ रही सब्जी न खरीदें। उन्होंने यह भी आह्वान किया था कि बाहरी लोगों के सैलून में भी न जाएं। अब उन्होंने मस्जिदों के निर्माण पर रोक को लेकर टिप्पणी की है। उन्होंने कहा कि बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्री जैसे धार्मिक स्थनों में पहले से ही मस्जिद निर्माण पर रोक है। कहा कि इस दायरे में पूरे उत्तराखंड को लाना चाहिए।

एत बार फिर से लॉकडाउन फोर में विधायक ने जहर उगलते हुए लिखा कि मित्रों आज से सैलून खुल रहे है,अपना तोलिया लेकर जाना।जाने से पहले देख ले कि आपसे कोई गलती तो नही हो रही।अब तो सैलून के अन्दर”नाशे रोग हरे सब पीड़ा,जपत निरंतर हनुमत बलबीरा,–भगवान हनुमान जी की मूर्ति भी लगी होगी।

राज्य की देश की विकास की डोर जिनके हाथों में अगर वहीं देश की राज्य की एकता को खंडित करने का काम करेंगे तो आम जनमानस से क्या उम्मीद रखी जाएगी। सबको साथ लेकर चलने वाले, सबके द्वारा वोट प्राप्त कर जीत हासिल करने वाले सफेदपोश नेताओं को सबको साथ लेकर चलना चाहिए।




0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top