मोहम्मद यासीन
ऊधममसिंह नगर: जहां एक ओर प्रवासी मजदूरों की घर वापसी के बड़े-बड़े दावे किए जा रहें हैं। वहीं, प्रवासी मजदूरों का पलायन लगातार जारी है। लोग हर कीमत पर अपने घर वापस लौटना चाहते हैं। घर पहुंचने के लिए जोखिम लेने से भी नहीं कतरा रहे हैं। ऊधमसिंह नगर में एक ऐसा ही मामला सामने आया है। जिसने सबको हैरान कर दिया। जिले में 6 बाइकों पर सवार 24 लोग चार राज्यों की सीमाएं पर कर ऊधमसिंह नगर पहुंच गए।

आप जो तस्वीरें देख रहें हैं। वो ना तो चार पहिया वाहन है ना कौई टैंपो या कोई दूसरा चार पहिया वाहन। ये एक बाइक है। तस्वीर भी ऐसी की हैरत में डाल देगी। एक बाइक पर सवार 6- 6लोग हरियाणा के जिला पांडरी के तहसील कैथल से 4 राज्यों को क्रॉस कर उत्तराखंड के ऊधमसिंह नगर तक आ गए। इनको अपने सितारजंग सितारगंज अपने घर जाना है। ये तस्वीरें चर्चा का विषय बना हुआ है।

मजदूर साइकिल, बाइक बस ट्रक या फिर लाखों मील की दूरी पैदल ही तय कर घर पहुंचने के लिए संघर्ष कर रहें हैं। लेकिन, इस जद्दोजहद के बीच रास्ते में होने वाले सड़क हादसे मजदूरों के लिए काल बन कर रहे हैं। ऊधम सिंह नगर में एक हैरत में डाल देनी बाली तस्वीर सामने आई है।

6 बाइक और 24 लोग सवार होकर अपने-अपने घरों को हरियाणा से रवाना हो गए। बाइक पर केवल खुद ही नहीं। सामान के साथ ही एक बाइक पर 6-6 लोग सवार नजर आए। इनका कहना था कि इनका भूखे मरने की नौबत आ गई थी। मजबूरी में इनको से निर्णय लेना पड़ा।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top