सोमवार रात भारत और चीनी सेना की बीच झड़प हुई जिसमे भारतीय सेना के एक अफसर समेत तीन जवान शहीद हो गए। वहीं चीन के 5 सैनिकों के भी मारे जाने की खबर है। वहीं चीन ने भारत पर सीमा क्रॉस करने का आरोप लगाया है लेकिन भारत ने इससे इंकार किया है। वहीं रक्षा मंत्री-सीडीएस ने बैठक बुलाई है और चीन से बातचीत कर मामला सुलझाने की बात है।

आपको बता दें कि पिछले 4 दशकों से चीन और भारत के बीच हिंसा नहीं देखने को मिली लेकिन सोमवार रात चीन औऱ भारत में झड़प हुई जिसमे भारत के एक अफसर समेत तीन जवान शहीद हो गए वहीं 5 चीनी सैनिकों के भी मारे जाने की खबर है।

45 साल बाद हुआ ऐसा

मीडिया रिपोर्ट्स के आंकड़ों के अनुसार ऐसा करीब 45 साल बाद भारत-चीन बॉर्डर पर सैनिक कीशहीद हुए हैं।हालांकि विवाद की खबर आती रही हैं लेकिन कभी कोई जवान शहीद नहीं हुआ।

1967 में सिक्किम में झड़प हुई थी, मारे गए थे कई सैनिक

जी हां कहा जाता है आखिरी विवाद चीन भारत के बीच 1967 में सिक्किम में झड़प हुई थी, यानी की 53 साल पहले और चीन वहां इसलिए चिढ़ा हुआ था क्योंकि 1962 की जंग के बाद भारत उस इलाके में अपनी स्थिति लगातार बेहतर की थी। 1967 की इस जंग में भारत के 80 जवान शहीद हुए थे। वहीं चीन के करीब 400 सैनिकों ने अपनी जान गंवाई थी। लेकिन ये पूरा सच नहीं है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार चीन की तरफ से 1975 में भी भारतीय सैनिकों पर हमला हुआ था।

दोनों देशों की तरफ से आखिरी गोलीबारी 1967 में जरूर हुई थी लेकिन इसके 8 साल बाद भी चीन ने घात लगाकर हमला किया था। 1975 के इस हमले में चार भारतीय सैनिक शहीद हुए थे। तब भारत सरकार ने कहा था कि चीन ने सीमा क्रॉस की है, लेकिन हरबार की तरह चीन ने इससे इनकार किया था।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top