देवभूमि उत्तराखंड वीर सपूतों की जननी रही है। पहाड़ के बेटों ने देश सेवा को हमेशा खुद से ऊपर माना है, यही वजह है कि भारतीय सेना का हर सौंवा सैनिक पहाड़ी राज्य उत्तराखंड से है। चाहे कोई भी युद्ध हो उत्तराखंड के बहादुर सैनिकों ने अपना लोहा मनवाया। बात करें कारगिल युद्ध की तो कारगिल युद्ध में भाग लेने वाली लगभग हर रेजिमेंट में त्तराखंड के बहादुर सैनिक शामिल थे। भारतीय सेना ने 524 सैनिकों को खोया तो वहीं 1363 गंभीर रूप से घायल हुए।

उत्तराखंड के युवाओं ने दादा-परदादा और पिता की सैन्य परंपरा को आगे बढ़ाया

वहीं आज भी उत्तराखंड के युवा दादा-पिता की इस परंपरा को आगे बढ़ा रहे हैं। आज भी कई युवा ऐसे हैं जो सेना में जाने को लेकर तैयार बैठे हैं बस चाहिए तो मौका। कई  ऐसे कई परिवार हैं जहां सेना में शामिल होने की परंपरा अभी भी पीढ़ी से पीढ़ी तक चली आ रही है। वहीं आज देहरादून आईएमए में हुई पासिंग आउट परेड में कई उत्तराखंड के युवाओं ने उत्तराखंड की सैन्य परापंरा को आगे बढाया। उत्तराखंड ने आज देश को 31 सैनिक दिए जो सीमा पर रहकर देश की रक्षा करेंगे और अपने सैनिकों को कमांड करेंगे।

चीन सीमा पर हालात नियंत्रण में-सेना प्रमुख जनरल मुकुंद नरवणे

गर्व की बात ये है कि देश के पहले सीडीएम भी पौड़ी गढ़वाल के बिपिन रावत है। और आज देश को उत्तराखंड ने 31 अफसर दिए जो की गर्व से सीना और चौड़ा करता है। कुमाऊं-गढ़वाल रायफल में कई सैनिक आज दुश्मनों के छक्के छुड़ा रहे हैं। भारतीय सैनिक और पैरा मिलिट्री चीन के साथ भी हालातों को सुधारे हैं इसकी जानकारी आज आईएमए में बतौर मुख्य अतिथि के रुप पर पहुंचे सेना प्रमुख जनरल मुकुंद नरवणे ने कहा कि चीन सीमा पर हालात नियंत्रण में हैं।

उत्तराखंड के 31 युवा बने सैन्य अफसर

जी हां आज देश को 333 सैन्य़ अफसर मिले जिसमे से 31 उत्तराखंड ने दिए। वहीं सबसे ज्यादा अधिकारी यूपी के थे, यूपी के 66 युवा सैन्य अधिकारी बने। देश सेवा को लेकर यहां के युवाओं में किस हद तक जुनून है, इसका अंदाजा सेना भर्ती परेड में युवाओं की भीड़ को देखकर लगाया जा सकता है। सेना को सैनिक देने के साथ ही अफसर देने के मामले में भी उत्तराखंड ने बादशाहत कायम रखी है।

बता दें कि इस वक्त उत्तराखंड में 169519 से ज्यादा पूर्व सैनिक हैं। इसके साथ ही 72 हजार से ज्यादा जवान सेना को अपनी सेवा दे रहे हैं।

IMA में पास आउट होने वाले 333 कैडेट्स में मुख्यतः इस बार इन राज्यों से है-

उत्तराखंड 31
हरियाणा- 39
उत्तरप्रदेश 66
आंध्र प्रदेश 4
असम- 2
बिहार- 31
चंडीगढ़ -3
छत्तीसगढ़- 4
दिल्ली- 7
गुजरात -8

अफगानिस्तान के 48, भूटान के 13, फिजी के 2, मालद्वीप के 3, मोरीशिस के 3,  पपुआ न्यू गिनी का 1, श्रीलंका से 1, तजाकिस्तान से 18 और वियतनाम से 1 युवा सैन्य अफसर बना जो अपनी देश की रक्षा करेंगे।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top