देहरादून : उत्तराखंड में अब पांच राज्यों के चिह्नित 75 शहरों के अलावा अन्य शहरों से आने वाले लोगों को क्वारन्टाइन नहीं किया जाएग। इन 75 शहरों के लोगों और हवाई जहाज से आने वाले लोगों को राज्य में आने पर 14 की जगह 21 दिनों तक क्वारंटाइन रहना होगा। इसमें सात दिन का समय संस्थागत और 14 दिन का समय होम क्वारंटाइन के लिए रखा गया है। नए नियम का उल्लंघन करने पर कार्रवाई का प्रविधान किया गया है। क्वारंटाइन में रहने वाले किसी व्यक्ति का सैंपल लिया गया है, तो उसे दस दिन तक इंतजार करना होगा। दस दिनों के भीतर सैंपल की रिपोर्ट नहीं आती और व्यक्ति में कोई लक्षण नजर नहीं आते तो उसे होम क्वारंटाइन के लिए भेज दिया जाएगा।

मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने बताया कि केंद्र सरकार ने पूरे देश में 75 शहरों को संक्रमण के लिहाज से रेड यानी गंभीर माना है। इन 75 शहरों में तमिलनाडु, तेलंगाना, कोलकाता, मध्य प्रदेश, दिल्ली, गुजरात, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश और राजस्थान के चेन्नई , हैदराबाद , तिरुवल्लुर, कोलकाता हावड़ा, इंदौर, चेंगलपट्टु, साउथ ईस्ट दिल्ली, मध्य दिल्ली, उत्तरी दिल्ली, दक्षिणी दिल्ली, नार्थ ईस्ट दिल्ली, पश्चिम दिल्ली, शाहदरा, पूर्वी दिल्ली, नई दिल्ली, उत्तर पश्चिम दिल्ली, अहमदाबाद, सूरत, वडोदरा, आनंद, बनासकांठा, पंचमहल, भावनगर.

गांधीनगर अरावली, मुंबई, पुणे, ठाणे, नासिक, पालघर, नागपुर, सोलापुर, यवतमाल, औरंगाबाद, सतारा, धुले, अकोला, जलगाँव, मुंबई उपनगर, आगरा, लखनऊ , सहारनपुर, कानपुर नगर, मुरादाबाद, फिरोजाबाद, गौतम बुद्ध नगर (नोएडा और ग्रेटर नोएडा), बुलंदशहर, मेरठ, रायबरेली, वाराणसी (बनारस), बिजनौर, अमरोहा, संत कबीर नगर, अलीगढ़, मुजफ्फरनगर, रामपुर, मथुरा, बरेली, अजमेर, बाड़मेर, भीलवाड़ा, बीकानेर, चित्तौड़गढ़, डूंगरपुर, जयपुर, जालोर, जोधपुर, कोटा, नागौर, पाली, राजसमंद सवाई माधोपुर, सीकर, सिरोही व उदयपुर शामिल हैं। उल्लेखनीय है कि इन्हीं 75 शहरों में देश के 70 फीसद से अधिक मामले आ रहे हैं।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top