21 जून रविवार को साल का पहला सूर्यग्रहण लगा जो की सदी का सबसे बड़ा सूर्यग्रहण है। ये सूर्य ग्रहण 5 घंटे 48 मिनट का होगा लेकिन भारत में यह केवल 3 घंटे 26 मिनट तक दृश्य रहेगा। इस ग्रहण का व्यापक असर ना सिर्फ भारत पर होगा बल्कि इसका प्रभाव चीन, अमेरिका, सहित दुनिया के कई अन्य देशों पर भी दिखेगा।

चंद्रमा की छाया ढक जाएगा सूर्य का 99 फीसदी भाग

यह वलयाकार सूर्य ग्रहण होगा, जिसमें चंद्रमा की छाया सूर्य के 99 फीसदी भाग को ढक लेगा। और रिंग ऑफ फायर के रूप में नजर आएगा। वैज्ञानिक दृष्टि से सूर्यग्रहण एक खगोलीय घटना है जिसमें पृथ्‍वी और सूर्य के बीच में चंद्रमा आ जाता है। इससे सूर्य की आंशिक या पूर्ण रोशनी धरती पर नहीं आ पाती है। इसी घटना को सूर्यग्रहण कहते हैं।

शनिवार रात से सूर्य ग्रहण का सूतक शुरू हो गया है। अब 21 जून को देहरादून समेत पूरे देशभर में सुबह 10:24 बजे सूर्य ग्रहण लगेगा, जो दोपहर 1:48 बजे तक रहेगा।उत्तराखंड विद्वत सभा के प्रवक्ता आचार्य विजेंद्र प्रसाद ममगाईं ने कहा कि सूर्य ग्रहण के दौरान चंद्रमा, सूर्य का अधिकांश भाग को ढक लेंगे। इससे दोपहर में अंधेरा छाने का अनुमान है। यह दुर्लभ संयोग कई साल हो रहा है।शनिवार रात 10:24 बजे से सूतक काल लग गया था। इस दौरान मंदिरों के कपाट बंद रखे गए। यात्रा, खान-पान व अन्य कार्य नहीं किए गए।

मेष : धन लाभ, नए मित्र बनेंगे।

वृष : धन हानि, स्वास्थ्य समस्या।

मिथुन : चिंता, दुर्घटना, व्यय अधिक होगा।

कर्क : धन हानि, नेत्र पीड़ा, कार्य बनेंगे।

सिंह : लाभ, उन्नति, सावधानी बरतना जरूरी।

कन्या : रोग, कष्ट व भय रहेगा।

तुला : संतान चिंता, कष्ट रहेगा।

वृश्चिक : शत्रु भय, साधारण लाभ।

धनु : पति-पत्नी के लिए कष्टकारी।

मकर : रोग, गुप्त चिंता।

कुम्भ : अधिक व्यय, कार्यों में बाधा।

मीन राशि : कार्य सिद्धि, स्वास्थ्य समस्या रहेगी।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top