देहरादून : उत्तराखंड के लिए अच्छी खबर है। काॅर्बेट नेशनल पार्क और राजाजी टाइगर रिजर्व में हाथियों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। साथ ही जलीय जीवों की संख्या भी बढ़ी है। इससे उत्साहित सरकार ने 2020 से 2022 के बीख् स्नो-लैपर्ड की गिनती करने का निर्णय लिया है।

कॉर्बेट नेशनल पार्क और राजाजी टाइगर रिजर्व हाथियों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बताया कि प्रदेश में छह से आठ जून तक हाथियों की गणना की गई थी। इसमें सामने आया है कि प्रदेश में हाथियों की संख्या 2026 पहुंच गई है। हाथियों की संख्या में बीते तीन साल में करीब 10 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है।

उन्होंने बताया कि रिपोर्ट में सामने आया है कि प्रदेश में वर्ष 2012 में 1559 हाथी थे। जबकि 2017 में इनकी संख्या बढ़कर 1839 हो गई थी। इस प्रकार वर्ष 2017 से हाथियों की संख्या में 10.17 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। सीएम त्रिवेंद्र ने बताया कि प्रदेश में जलीय जीवों की संख्या में भी बढोतरी हुई है। 22 से 24 फरवरी 2020 तक जलीय जीवों की गणना की गई थी।

प्रदेश में 451 मगरमच्छ, 77 घड़ियाल और 194 ऊदबिलाव हैं। 2020 से 2022 तक राज्य में स्नो-लैपर्ड की जनसंख्या का आंकलन भी किया जाएगा। कहा कि कार्बेट टइगर रिजर्व और राजाजी टाईगर रिजर्व में बाघों और जंगली हाथियों की धारण क्षमता का अध्ययन भारतीय वन्यजीव संस्थान से कराने के लिए प्रस्ताव प्राप्त हो गया है। इसी प्रकार गैण्डे के रिइन्ट्रोडक्शन के लिए साइट सूटेबिलिटी रिपोर्ट मिल गई है।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top