देहरादून : पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत का बड़ा बयान आया है। हरीश रावत ने सरकार पर हमला करते हुए कहा कि मुकदमे दर्ज करके सरकार विपक्ष की आवाज को दबाना चाहती है। साथ ही हरीश रावत ने कहा कि जनता के सवालों को उठाने वालों को सरकार थाना,जेल और कचहरी दिखाना चाहती है।

आपको बता दें कि बीते दिन पेट्रोल-डीजल के दाम में बढ़ोतरी और महंगाई के खिलाफ विरोध करते हुए हरीश रावत समेत कई कांग्रेसी बैलगाड़ी में सवार होकर सकड़ों पर उतरे थे और केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया था। जिसके बाद रायपुर थाने के उप निरीक्षक प्रदीप सिंह चौहान ने यह मुकदमा दर्ज कराया है।

तहरीर में कहा गया कि पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के नेतृत्व में अनिल क्षेत्री पार्षद रांझावाला, हेमा पुरोहित, पूर्व प्रधान रायपुर घनश्याम पाल, आशीष गुसाईं, बलवीर पंवार, प्रभुलाल बहुगुणा, गुलजार अहमद निवासी सहसपुर, हुकम सिंह पार्षद वाणी विहार, विनीत डोभाल, अमित भंडारी पार्षद नेहरू कालोनी, रोबिन पंवार,  मोहन काला, सुलेमान अली पूर्व पंचायत अध्यक्ष और 20-25 अन्य महिलाओं ने तेल की कीमतों में बढ़ोतरी के विरोध में प्रदर्शन किया।

कांग्रेस पर इस रैली के लिए अनुमति न लेने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने का आऱोप लगाया गया। कांग्रेस पर राज्य सरकार के आदेश की अवहेलना और धारा 144 का उल्लंघन करने का आऱोप लगाया गया औऱ विभिन्न धाराओ के तहत मुकदमा दर्ज किया गया जिससे हरीश रावत समेत कांग्रेस ने नाराजगी जाहिर की है।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top