चमोली : भारत-चीन सीमा के बीच हुई झड़प के बाद भारत ने चीन को हर मोर्चे पर घेरने का प्लान तैयार कर लिया है। एक तरफ कूटनीतिक स्तर पर वार्ता चल रही है। वहीं, सीमाओं पर जवानों को तैनात किया जा रहा है। चीन सीमाएं उत्तराखंड के चमोली, पिथौरागढ़ और उत्तरकाशी जिलों से भी लगती हैं। इन तीनों की जिलों की सीमाओं पर अलर्ट जारी किया गया है। इसको अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि सेना के बड़े अफसर तो दौरा कर ही रहे हैं। सेना के हेलीकाॅप्टर सेना के लिए रसद भी पहुंचा रहे हैं।

दैनिक जागरण के अनुसार उत्तराखंड में चीन से सटी सीमा पर सेना पूरी तरह से सतर्क है। इन दिनों सीमा पर बढ़ी हलचल के बीच सैन्य अधिकारियों की आवाजाही बनी हुई है। रविवार को सेना के ध्रुव हेलीकॉप्टर ने जोशीमठ में लैडिंग की। बताया जा रहा है कि इससे सेना का साजो-सामान पहुंचाया गया है।

उत्तराखंड में चीन से लगी 345 किलोमीटर सीमा में चमोली से सटा 88 किलोमीटर का बार्डर सर्वाधिक संवेदनशील है। चमोली की मलारी घाटी के बाड़ाहोती में चीनी सैनिकों की घुसपैठ होती रही है। इसी के मद्देनजर सीमा पर विशेष निगरानी की जा रही है। सेना पूरी तरह से मुस्तैद है और सीमा पर लगातार सैन्य वाहनों की आवाजाही देखी जा रही है।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top