देहरादून : फिक्की फ्लो के उत्तराखंड चैप्टर ने प्रभावशाली नेतृत्व ओर सफलता का दृष्टिकोण विषय पर राष्ट्रीय वेबीनार आयोजित किया। वेबीनार की मुख्य अतिथि अंतरराष्ट्रीय कथक नृत्यांगना, स्पर्श गंगा एनवायरमेंट एक्टिविस्ट, आरुषि निशंक ने वेबीनार का शुभारंभ किया। इसमें विभिन्न क्षेत्रों में काम करने वाली सौ से अधिक महिलाओं ने हिस्सा लिया।

कठिन समय में नेतृत्व करने की भूमिका

वक्ताओं ने महिलाओं को सशक्त बनाने और उनमें कठिन समय में नेतृत्व करने की भूमिका निभाने के लिए प्रेरित करने पर चर्चा की गई। क्योंकि महिलाएं हमारी आर्थिकी की रीढ़ हैं। आरुषि निशंक ने कहा कि हमें स्थानीय उत्पादों को ज्यादा से ज्यादा प्रयोग करना चाहिए। उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि वे स्थानीय उत्पाद खरीदें, जिससे स्थानीय लोगों की आर्थिकी मजबूत हो। इस दौरान उन्होंने स्पर्श गंगा से जुड़े राज्य के पांच लाख किसानों के किये कार्यों और सहयोग की भी चर्चा की।

विभिन्न विषयों पर चर्चा

उत्तराखंड चैप्टर की फिक्की फ्लो की अध्यक्ष किरण भट्ट टोडरिआ ने कहा कि हमारा उत्तराखंड चैप्टर अपने सदस्यों को दैनिक जीवन से जुड़े विभिन्न विषयों पर चर्चा करवाता है। साथ ही उनको अपना जीवन बेहतर बनाने के लिए विभिन्न सुझाव भी समय-समय पर दिये जाते हैं। उन्होंने कहा कि कामना और जीविका चलाना तो आसान है, लेकिन समाज के लिए कुछ अलग करना थोड़ा मुश्किल है।

सशक्त करने की शक्ति

उन्होंने कहा कि इसके चलते ही इस तरह के वेबीनार आयोजित किये जा रहे हैं, जिससे सदस्यों का आत्मविश्वास मजबूत हो और उनमें समय के लिए कुछ अलग करने का जज्बा कायम हो। कहा कि संस्थान का उद्देश्य महिलाओं को सशक्त, स्वाबलंबी और आत्निर्भर बनाना है। जिसके लिए उत्तराखंड फिक्की फ्लो का नारा है…सशक्त करने की शक्ति।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top