फाइल फोटो

पिथौरागढ़ : मानसून 20 जून को दस्सतक दे सकता है। उससे पहले मौसम विभाग ने 14 जून से भारी और तेजी रफ्तार बारिश का अलर्ट जारी किया था। लेकिन, अलर्ट से पहले ही शुक्रवार को प्रदेश के कई इलाकों में बारिश का दौर शुरू हो गया है। पिथौरागढ़ जिले में भारी बारिश के कारण लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। बताया जा रहा है कि कई खेत बह गए। दो मकान खतरे की जद में आ गए। सड़क भी कई जगहों पर बंद हो गई।

शुक्रवार की रात उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले के विभिन्न हिस्सों में तेज बारिश से नदी नाले उफना गए। जिला मुख्यालय में तेज बारिश के बाद पिथौरागढ़-चंडाक सड़क में पिरूल ही पिरूल (चीड़ की पत्तियां) फैल गया है। जिससे सड़क पर दुर्घटना का खतरा बढ़ गया है। पिथौरागढ़ के गंगासेरी में बीती रात हुई तेज बारिश से हीरा सिंह, राम सिंह, मोहन सिंह के मकान खतरे की जद में आ गए हैं।

मूसलाधार बारिश से 12 से 15 खेत बहने की सूचना है। ग्रामीणों ने खौफ के साए में रात गुजारी। कई जगहों पर लैंडस्लाइड भी हुआ है। प्रदेश के कई इलाकों में आज भी भारी बारिश की संभावना है। नैनीताल और चंपावत के ज्यादातर हिस्सों में बहुत भारी बारिश के आसार हैं। कुमाऊं के अन्य क्षेत्रों में भी बारिश के साथ ओले गिर सकते हैं।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top