रुड़की के झबरेड़ा में बीते दिन सोमवार को हुई करीबन 25 लाख की लूट की घटना का पुलिस ने 12 घण्टे से भी पहले खुलासा कर दिया। लूट की घटना का ताना बाना खुद समिति के कर्मचारियों ने ही बुना था। पुलिस ने दो कर्मचारियों के समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है और लूट की रकम भी पुलिस ने बरामद कर ली।

सहकारी समिति के दो कर्मचारियों से की थी बाइक सवारों ने लूट

रुड़की की सिविल लाइंस कोतवाली में घटना का खुलासा करते हुए हरिद्वार एसएसपी सेंथिल अबुदई कृष्णराज एस ने बताया कि झबरेड़ा पुलिस को सूचना मिली थी कि सहकारी समिति के दो कर्मचारियों से बाइक सवार बदमाशों ने रुपयों से भरा बैग तमंचे के बल पर लूट लिया है जिसमें 22 लाख बासठ हजार रुपये बताए गए थे।

समिति में कार्यरत कर्मचारी ही निकले मास्टर माइंड

उन्होंने बताया कि समिति के सचिव तलवार सिंह की तहरीर के बाद घटना के खुलासे के लिए एसपी देहात के नेतृत्व में टीम का गठन किया गया। टीम ने जांच की तो पता लगा कि समिति में कार्यरत कर्मचारी आशु कुमार एवं सन्नी कुमार द्वारा लूट की घटना की योजना बनाई थी। इस काम के लिए उन्होंने अपने 2 साथियों को योजना में शामिल किया। आशु ने पूर्व योजना के तहत धर्मेंद्र व पंकज को झबरेड़ा में अग्रवाल फर्नीचर के समीप पहुंचने को कहा। जहाँ पंकज व धर्मेंद्र ने उनसे रुपयों का बैग छीन कर शिव चौक की ओर फरार हो गए। आशु ने पंकज व धर्मेंद्र को दो दो लाख रुपए दिए। बाकी के 16 लाख 29 हजार 900 घर में रखी कटी घास के नीचे उसे थैले में छुपा दिया जिसमें से सनी चौधरी को भी हिस्सा देना था। आशु की निशानदेही पर पुलिस ने उसके घर से 1629900 रुपए बरामद कर लिए। इसके साथ ही पंकज को गिरफ्तार कर दो लाख उसके घर से बरामद किए।

सनी चौधरी के घर से 4,46, 920 बरामद

वहीं सनी चौधरी के घर से पुलिस ने 4,46, 920 बरामद किए। सनी ने बताया कि यह वही लूट की धनराशि पैसे थे जिसका वाउचर भरा था। दोनों की योजना थी कि रकम को 25 से 26 लाख बताना था। पुलिस ने आशू कुमार, सनी चौधरी और पंकज को गिरफ्तार कर 22 लाख क्षेत्र हजार 820 की रकम बरामद की है। एसएसपी हरिद्वार ने बताया कि खुलासा करने वाली टीम को पुलिस महानिदेशक द्वारा बीस हजार रुपये के पुरस्कार की घोषणा की गई है।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top