मंगलवार को योग गुरु रामदेव की पतंजलि आयुर्वेद ने कोरोना की दवा लॉन्च की। बाबा रामदेव ने कोरोना के शत प्रतिशत इलाज का दावा किया और कोरोनिल नाम की दवा लॉन्च की। बाबा रामदेव ने 7 दिन में 100 फीसदी मरीज के ठीक होने का दावा किया लेकिन बाबा रामदेव को झटका तब लगा जब दवा लॉन्चिंग के कुछ घंटों बाद ही आयुष मंत्रालय ने बाबा रामदेव की कोरोना की दवा के प्रसार-प्रचार पर रोक लगाने की आदेश दिया।

आय़ुष मंत्रालय ने मांगा था जवाब

आयुष मंत्रालय ने कहा कि इस दवा में प्रयोग विभिन्न जड़ी-बूटियों की मात्रा और अन्य ब्योरा जल्द से जल्द उपलब्ध कराएं। साथ ही मंत्रालय ने विषय की जांच-पड़ताल होने तक कंपनी को इस उत्पाद का प्रचार भी बंद करने का आदेश दिया है।

आचार्य बालकृष्ण का बयान

वहीं अब आचार्य बालकृष्ण ने ट्वीट कर और मीडिया को बयान दिया कि ये एक कम्यूनिकेशन गैप था जिसका जवाब हमने दे दिया है। कहा कि हमने दवा का प्रचार प्रसार नहीं किया हमने दवा केवल लॉन्च की है जिसते शत प्रतिशत रिजल्ट हैं। आचार्य बालकृष्ण ने साफ तौर पर आयुष मंत्रालय पर निशाना साधा। बालकृष्ण आचार्य ने आयुष मंत्रालय को कहा कि उनको पहले पता नहीं था उनको पहले पता कर लेना चाहिए था जल्दी नहीं मचानी चाहिए था। साथ ही कहा कि मंत्रालय को दुनिया में पता कर लेना चाहिए फिर कुछ कहना चाहिए। कहा कि हमे कुछ नहीं पता, हमें दबाव और प्रभाव से कोई फक्र नहीं पड़ता, हमने सरकार के नियम और कानून के हिसाब से काम किया है। हमने आयुर्वेद की दवा बनाई है जो की प्रभावशाली है। आचार्य बालकृष्ण ने कहा कि हमने सेवा भावना से कोरोना की दवा बनाई है।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top