एकता में बहुत ताकत होती है…एकता किसी को बना भी सकती है और बिगाड़ भी सकती है। इतना ही नहीं एकता किसी की जिंदगी बचा भी सकती है। जी हां अब आप सोच रहे होंगे जिंदगी भला कैसे कोई बचा सकता या दे सकता है…लेकिन हम यहां बात कर रहे हैं…एक होकर इस बेटी की मदद करने की..

परिवार वालों ने उत्तराखंड की जनता से मांगी मदद

जी हां रुद्रप्रयाग के बष्टि गांव की निवासी मासूम आरुषि इस समय जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रही है। आरुषि के परिवार वालों ने उत्तराखंड की जनता से मदद मांगी है ताकि उनकी नन्ही सी बेटी को बचाया जा सके। पैसे न होने के कारण आरुषि को घर ले आए हैं लेकिन माता-पिता बच्ची को बचाने के लिए अब जनता से मदद मांग रहे हैं।

आरूषि के पूरे शरीर और फेफड़ों में भर चुका है पानी 

जानकारी मिली है कि आरूषि के पूरे शरीर और फेफड़ों में पानी भर चुका है। किडनी भी खराब हो गई है। सांस लेने में तकलीफ हो रही है। आरुषि को जल्द से जल्द वेंटिलेटर पर रखना अति आवश्यक है वरना उसकी जिंदगी खतरे में आ सकती है।जानकारी मिली है कि आरुषि के पिता मजदूर हैं जो दिन भर मजदूरी करके परिवार का पेट पालते हैं ऐसे में इलाज के लिए बड़ी रकम जुटा पाना मुश्किल है। आरुषि की 6 और बहने हैं और एक भाई है।

बच्ची घर में तड़प रही 

ये बताने में बहुत दुख हो रहा है कि आरुषि के पिता के पास पैसे न होने के कारण बच्ची को श्रीनगर हॉस्पिटल से घर लाना पड़ा। बच्ची घर में तड़प रही है। वहीं डॉक्टर्स ने आरुषि को देहरादून के अस्पतालों में दिखाने या एम्स ऋषिकेश में दिखाने के लिए कहा है लेकिन पिता के पास इलाज के लिए पैसे नहीं है। देहरादून जैसे शहर में रहना खाना पीना और दवाई का खर्च एक मजदूर करने में असमर्थ है।

खबर उत्तराखंड प्रदेश की जनता से आरुषि की मदद की अपील करता है ताकि एक नन्ही सी बच्ची की जिंदगी बच सके। आरुषि के पिता की अकाउंट्स डिटेल आपको उपलब्ध कराई जा रही है। कृपया पहले फोन कर आरुषि की मदद करे। बता दें कि आरुषि की मदद के लिए उत्तराखंड के लोग सामने आने लगे हैं. इतना ही नहीं जो उत्तराखंड के लोग बाहरी राज्यों में रहते हैं वो भी आरुषि की मदद के लिए हाथ बढ़ा रहे हैं।

एक ग्रुप उत्तराखंड की हसीन वादियांसे जुड़े लोगों ने की मदद 

उत्तराखंड के एक ग्रुप उत्तराखंड की हसीन वादियां के माध्यम से उत्तराखंड के लोगों ने आरुषि की मदद की है और आगे भी बच्ची की मदद करने की बात कही है। बता दें कि इस ग्रुप ने पहले भी केरल बाढ़ के समय पीड़ितों की मदद के लिए पैसे भेजे थेबैंक अकाउंट नम्बर – 32353177059
IfSC कोड – SBIN0009834
मोबाइल नंबर- 9720385323





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top