देहरादून : चीन-भारत के बीच चल रहे विवाद के बीच नेपाल भी चुप रहने को तैयार नहीं है। नेपाल सरकार के इशारे पर नेपाली FM रेडियो चैनलों पर भारत विरोधी गाने चल रहे हैं। इन गानों से परेशान होकर नेपाल सीमा से लगे भारतीय गांवों के लोगों ने नेपाली एफएम रेडियो सुनना बंद कर दिया है। गोनों में नेपाल कालापानी, लिपुलेख और लिंपियाधुरा को अपना बता रहा है।

हमरो हो यो कालापानी

FM पर सबसे ज्यादा ‘हमरो हो यो कालापानी, लिपुलेख, लिपिंयाधुरा-उठा जागा वीर नेपाली’ गाना चल रहा है। इसके अलावा दूसरे गाने भी चल रहे हैं, जिनको हाल ही में तैयार करवाया गया है। इतना ही नहीं गानों के बीच नेताओं के भाषण भी सुनने को मिल रहे हैं, जिनमें वो लोगों को भारत के खिलाफ उकसा रहे हैं। भारत-नेपाल बॉर्डर पर स्थित गांवों के लोगों का कहना है कि नेपाल के एफएम रेडियो चैनल बॉर्डर के नजदीक के इलाकों में भारत विरोधी प्रोपेगेंडा चला रहे हैं और कालापानी, लिपुलेख और लिम्पियाधुरा पर नेपाल के दावे का प्रचार कर रहे हैं।

मौसम की जानकारी देना भी शुरू

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ये रेडियो स्टेशन नेपाल में दारचूला में जिला मुख्यालय के पास स्थित हैं। इन स्टेशनों की रेंज लगभग तीन किलोमीटर है और ये भारत में धारचुला, बलुआकोट, जौलजीबी और कालिका में भी सुने जा सकते हैं। स्थानीय लोगों के मुताबिक इन रेडियो स्टेशनों ने कालापानी, लिपुलेख और लिम्पियाधुरा को नेपाल का इलाका मानते हुए यहां के मौसम की जानकारी देना भी शुरू कर दिया है।

कोई जानकारी नहीं

हालांकि जिला प्रशासन और पुलिस का कहना है कि उनके पास नेपाल द्वारा एफएम रेडियो के जरिए भारत विरोधी प्रोपेगेंडा चलाने से संबंधित कोई जानकारी नहीं है। पिथौरागढ़ की एसपी प्रीति प्रियदर्शिनी ने कहा कि हमारे पास हमारी इंटेलिजेंस यूनिट की तरफ से इस विषय पर कोई जानकारी नहीं दी गई है।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top