एक सिपाही ने शुक्रवार रात प्रेमिका को वीडियो कॉल कर कमरे में फांसी लगा ली। शनिवार सुबह सूचना पर मौके पर पुलिस पहुंची औऱ शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। वहीं फॉरेंसिक टीम ने मौके से सिपाही का मोबाइल और एक डायरी कब्जे में ली है।

जानकारी मिली है कि सिपाही मूलरूप से आगरा का रहनेवाला था और साल 2018 बैच के सिपाही के पद पर भर्ती हुआ था। सिपाही विकास सोनी (24) नौबस्ता थाने में इंस्पेक्टर के हमराह थे। 5 दिन पहले विकास थाने के एक मकान में किराए पर आया था। थाना प्रभारी आशीष शुक्ला ने बताया कि सुबह 9 बजे जब विकास थाने पर नहीं पहुंचे तो उन्हें कई फोन किए गए। फोन न उठाने पर सिपाही को विकास के कमरे में भेजा लेकिन विकास ने दरवाजा नहीं खोला। जिसके बाद सिपाही ने खिड़की से छांका तो विकास का शव पंखे से लटका था।

वहीं सिपाही का वमोबाइल उसके शव के ठीक सामने खिड़की पर इस तरह से रखा था, जिससे पुलिस को आशंका हुई कि विकास ने वीडियो कॉल कर फांसी लगाई। सूचना पर एसएसपी दिनेश कुमार पी भी मौके पर पहुंचे। फोरेंसिक टीम ने मोबाइल और डायरी समेत कई चीजों को कब्जे में लिया और इसकी जानकारी परिजनों को दी औऱ शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

जानकारी मिली कि सिपाही अक्सर किसी युवती से फोन पर बात करता था। विकास ने बताया था कि युवती आगरा विकास प्राधिकरण में क्लर्क है। कई बार दोनों के बीच अनबन हो जाती थी। इस पर वह परेशान हो जाता था। आशंका जताई जा रही है कि घटना के वक्त भी विकास की युवती से फोन पर कोई बहस हुई औऱ गुस्से में आकर फांसी लगा ली।

वहीं मौके से पुलिस को एक डायरी मिली है कि जिसमे लिखा था कि जब मेरी जिंदगी के वो आखिरी पल, सेकेंड होंगे तो रो रहा होऊंगा और रोते, रोते, रोते किसी से कुछ नहीं कहूंगा। बस हंस रहा होऊंगा और मन में यही चल रहा होगा कि यार क्या जिंदगी थी…तू जो आ गया। और आखिरी में लिखा था कि बाय, बाय…लव यू एवरीवन।

 





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top