देहरादून : देहरादून की इंदिरा काॅलोनी में एक दिन पहले हुए हादसे में चार लोगों की मौत हो गई थी। हादसे में समीर की पत्नी भी मौत हो गई। वो गर्भवती थीं और आज ही उनकी अस्पताल में डिलवरी होनी थी। डाॅक्टरों ने समीर को डिलीवरी के लिए आज की ही तारीख दी थी। परिवार खुश था कि उनके घर किलकारियां गूंजेंगी। घर में नया मेहमान आएगा, लेकिन उस घर में अब चारों तहफ मातम पसरा हुआ है।

इंदिरा कॉलोनी में जमींदोज हुए मकान में एक-दो दिन में किलकारियां गूंजने वाली थी। वक्त ने ऐसी करवट ली कि कुछ ही पलों में घर में मातम पसर गया। समीर और किरन का पहला बच्चा होना था। दोनों ने इसके लिए खूब तैयारियां भी की हुई थी, लेकिन उनको क्या पता के उनकी तैयारियां हमेशा-हमेशा के लिए मलबे में दफन हो रह जाएंगी।

समीर और किरन की शादी को अप्रैल में एक साल हुआ था। किरन का गर्भकाल पूरा हो गया था। एक-दो दिन में किरण मां बनने वाली थी। समीर दिहाड़ी मजदूरी करता है, लेकिन बकौल समीर वह पत्नी की सारी जरूरतों का ध्यान रखता था। उसका ध्यान रखने के लिए मंगलवार को बहन को भी बुला लिया था। लेकिन, समीर को क्या पता था कि किरन और उसकी आने वाली संतान के साथ क्या होने वाला है? मकान गिरा तो प्रमिला और किरन की जान चली गई।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top