पिथौरागढ़ : पिथौरागढ़ जिले की बंगापानी तहसील के टांगा गांव में रविवार रात को जो कहर बरपा। उससे गांव पूरी तरह बर्बाद और तबाह हो चुका है। अब शायद ही टांगा गांव फिर कभी आबाद हो सकेगा। इस हादसे में अब तक 8 लोगों के शव बरामद हो चुके हैं। कुदरती कहर में लपता लागों को खोजने में जुटे राहत-बचाव दल को हादसे में मर चुके मासूम दिव्यांश और लतिका का एक फोटो मिला, जिसने सबकी आंखें नम कर दी।

दरअसल, कोरोना दिव्यांश और लतिका के पिता दोनों को मदकोट में पढ़ाने के लिए ले गए थे। वहीं कमरा लेकर रहते थे, लेकिन जब कोरोना का कहर बढ़ने लगा, तो वो दोनों को गांव ले गए। स्कूल अब भी कोरोना के कारण बंद हैं। शायद अगर स्कूल कुछ गए होते, तो ये दोनों मासूम भी अपने स्कूल के दोस्तों के साथ खेल-कूद रहे होते। बंगापानी तहसील के टांगा गांव में जो 11 लोग लापता हो गए थे। उनमें गणेश सिंह के दो बच्चे दिव्यांश और लतिका भी शामिल हैं।

इनको खोजने के लिए लगातार खोज अभियान चलाया जा रहा है। जब मलबे से इन मासूमों को खोजते हुए उनकी फ्रेम की हुई फोटो निकली तो ग्रामीणों के साथ राहत और बचाव काम में लगे एसडीआरएफ, पुलिस और अन्य कर्मियों की आंखें भी नम हो गई। मलबे से अब तक 8 शव निकाले जा चुके है। बाकी लापता लोगों के शव खोजने का काम जारी है।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top