लद्दाख : कोरोना महामारी के बीच लद्दाख से एक मां हर दिन अपने नवजात बच्चे के लिए दिल्ली दूध भेज रही है. दिल्ली के एक अस्पताल में इलाज के लिए नवजात भर्ती है और उसकी मां रोजाना एयरलाइंस की मदद से लद्दाख से दूध भेजती है. लद्दाख से दिल्ली दूध भेजने का यह सिलसिला पिछले एक महीने से जारी है. नवजात बच्चे के पिता जिकमेट वांगडू हर दिन दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट दूध लेने जाते हैं. दूध का डिब्बा लेह एयरपोर्ट से दिल्ली भेजा जाता है. दिल्ली में इस बच्चे का बड़ा ऑपरेशन हुआ है. बच्ची की मां लद्दाख में है और उसके पिता अस्पताल में देखभाल करते हैं. लेह के एक अस्पताल में 16 जून को बच्चे का जन्म हुआ था. बच्चे की आहार नली में दिक्कत पाई गई जिसके बाद इलाज के लिए बच्चे को दिल्ली लाया गया.

आज तक की रिपोर्ट के अनुसार बच्चे के पिता उस वक्त मैसूर में थे और मां का लेह में ऑपरेशन हुआ था, इसलिए दिल्ली नहीं लाया जा सकता था. माता-पिता की गैर मौजूदगी में बच्चे के मामा उसे इलाज के लिए दिल्ली लेकर आए. बाद में बच्चे के पिता भी दिल्ली आ गए. ऑपरेशन के बाद बच्चे को मां के दूध की जरूरत थी, इसलिए एयरलाइंस के माध्यम से हर दिन लेह से दिल्ली दूध पहुंचाया जा रहा है. लेह और दिल्ली के बीच 1 हजार किलोमीटर का फासला है. डायरेक्ट फ्लाइट में लगभग सवा घंटे का वक्त लगता है.

बच्चे के पिता वांगडू ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया, ”मैं जब कर्नाटक से दिल्ली पहुंचा तो अपने बच्चे को छूने से भी डर लग रहा था क्योंकि वहां कोरोना बीमारी फैली है और मैं फ्लाइट से दिल्ली पहुंचा था. बच्चे का दिल्ली के शालीमार बाग के एक अस्पताल में इलाज चल रहा है. बच्चे की आहार नली श्वास नली से जुड़ने के कारण वह कुछ खा नहीं पा रहा था. बाद में इसका ऑपरेशन हुआ और डॉक्टरों ने मां का दूध देने की सलाह दी. उधर लेह में बच्चे की मां का ऑपरेशन हुआ था. लिहाजा वह बच्चे के साथ दिल्ली नहीं आ सकी. इसलिए एयरलाइंस के जरिये हर दिन दिल्ली दूध भेजा जा रहा है.”





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top