पिथौरागढ़ : पिथौरागढ़ जिले में इस साल बारिश अब तक सबसे ज्यादा हुई है। भारी बारिश के कारण जिले के कई क्षेत्रों में जनजीवन भी प्रभावित हुआ है। कुछ दिनों पहले भी जिले के में बारिश ने तबाही मचाई थी। शुक्रवार की देर रात हुई भारी बारिश ने पिथौरागढ़ में खूब तबाही मचाई है। मुनस्यारी जिले में रातभर इतनी तेज बारिश हुई कि ग्रामीण खौफ में पूरी रात सो ही नहीं पाए।

मुनस्यारी के राथी गांव में बरसाती नाले का पानी घरों में घुस गया। साथ ही ढीलम, जौल ढुंगा, धापा, राथी बलसनकोट, सेरा कैठी और सेवला गांवों के लोगों के घरों को भी बारिश से काफी नुकसान पहुंचा है। मुनस्यारी, दरकोट, मदकोट, पिथौरागढ़ को जोड़ने वाली सड़क बह गई। इसी मार्ग से धापा के पास मिलम होते हुए चीन सीमा से लगे गांवों तक जाया जाता है।

मुनस्यारी दरकोट सड़क बीस मीटर टूट गई है। चंपावत जिले में भी टनकपुर-पिथौरागढ़ नेशनल हाईवे पर सड़क टूट गई है। यहां बारिश से भू कटाव हुआ है। खेत भी मलबे से पट गए हैं। स्वांला के पास बारिश से एक मकान क्षतिग्रस्त हो गया है। टनकपुुर पूर्णागिरी मार्ग पर किरोड़ा नाला उफान पर है। यहां आवाजाही बंद है। पूर्णागिरी में चट्टान दरकने से एक दुकान मलबे में दब गई है।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top