अल्मोड़ा। विगत लंबे समय से अल्मोड़ा के कई ग्रामीण क्षेत्रों में गुलदार के आतंक से लोग दहशत में हैं। वहीं आज सुबह धारानौला, बख,जैनल, मकेड़ी, गोलना करड़िया, सैकुड़ा,फलसीमा इलाके के लोगों को कुछ हद तक राहत मिली है। जी हां एक गुलदार आखिरकार पकड़ में आ ही गया।

गौरतलब है कि लॉक डाउन के कारण वाहनों, लोगों की कम आवाजाही के कारण नगर क्षेत्र के कई इलाकों में लंबे समय से गुलदार के आंतक से लोग दहशत में थे। गुलदार के आतंक से कई गांवों के लोग दहशत में थे। लोग गुलदार के आतंक से इतने खौफ में थे कि वो अपने काम के लिए भी घर से निकलने में डरते थे औऱ शाम होने से पहले ही घर में दुबक जाते थे।

बीते सोमवार की सुबह सैकुड़ा के पास घास लेने गई दो महिलाओं पर गुलदार हमला कर दिया था। महिलाओं ने शोर कर बेमुश्किल अपनी जान बचाई। जानकारी मिली है कि धारानौला, बख,जैनल, मकेड़ी, गोलना करड़िया, सैकुड़ा,फलसीमा इलाके में चार गुलदार घूम रहे है। जिनमे से एक गुलदार को बुधवार सुबह पकड़ लिया गया है जिससे लोगों ने कुछ हद तक राहत की सांस ली है।

इस पर सामाजिक कार्यकर्ता मनोज सनवाल ने कहा है अभी भी क्षेत्र में 3 गुलदार है। उन्होने व​न विभाग से जैनल के पास भी पिंजरा लगाये जाने की मांग की है।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top