देहरादून : मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने लेह-लद्दाख सीमा पर अपना फर्ज निभाते हुए शहीद हुए गौरीकला, किच्छा निवासी 24 वर्षीय जवान करन देव उर्फ देव बहादुर, 6/1 (गोरखा रेजिमेंट) की शहादत को नमन करते हुए ईश्वर से शहीद के परिजनों को धैर्य प्रदान करने की प्रार्थना की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार हमेशा शहीद के परिजनों के साथ खड़ी है।

आपको बता दें कि किच्छा के गौरीकला निवासी जवान देव बहादुर (24) पुत्र, शेर बहादुर सीमा पर शहीद हो गए। बेेटे की शहादत की खबर से परिवार समेत पूरे क्षेत्र में कोहराम मचा हुआ है। वहीं आस पास के लोगों को जमावड़ा घर में लग गया है।
मिली जानकारी के अनुसार बीते दिन शनिवार रात को गश्त के दौरान जवान देव बहादुर का पैर जमीन पर बिछी डायनामाइट पर पड़ गया। जिसके बाद जोर दार धमाका हुआ और वो शहीद हो गए। घटना की जानकारी परिवार को रात करीब 11 बजे मिली। जानकारी मिली है कि शहीद जवान 2016 में भारतीय सेना के 6/1 गोरखा रेजिमेंट के बैच भर्ती हुआ था।




0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top