देहरादून : देहरादून से बड़ी खबर है। मुख्यमंत्री के डाॅक्टर एनएस बिष्ट सीएमओ के खिलाफ गांधी शताब्दी अस्पताल में धरने पर बैठ गए हैं। डाॅ. बिष्ट सीएमओ डॉ. बीसी रमोला पर उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए राजकीय गांधी शताब्दी अस्पताल में मौन व्रत रख सत्याग्रह शुरू कर दिया है। डॉ. बिष्ट और उनकी असिस्टेंट फिजीशियन राजकीय गांधी शताब्दी अस्पताल पहुंचे और अपना एप्रिन उल्टा पहन लिया और आला भी पीठ की तरफ लटका कर सत्याग्रह शुरू कर दिया। डॉ. एनएस बिष्ट ने कई गंभीर आरोप लगाए हैं।

उनका आरोप है कि सीएमओ और जिला अस्पताल के तत्कालीन प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ. बीसी रमोला मार्च से ही उनका उत्पीड़न कर रहे हैं। आरोप लगाया कि कोविड-19 फिजिशियन के रूप में ड्यूटी के बावजूद उनसे बैठक में गैर पेशेवर अंदाज में उल्टे-सीधे सवाल पूछकर सार्वजनिक रूप से उनके अपमानित करने का प्रयास किया गया।

यह भी आरोप लगाया कि उनकी एसीआर में भी प्रतिकूल प्रविष्टि दर्ज की गई। उन्होंन कहा कि अस्पताल की महिला स्वास्थ्य कर्मियों के यौन उत्पीड़न के आरोप लगने के बाद भी डाॅ. रमोला को प्रमोट कर बना दिया गया। कहा कि इसी से डॉ. रमोला की मनमानी पर उतर आए हैं।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top