बिहार: कोरोना में लापरवाही कितनी भारी पड़ सकती है। इसके कई मामले सामने आ चुके हैं। बावजूद लोग संभल नहीं रहे हैं। सतर्क नहीं रह रहे हैं। ताजा मामला बिहार की राजधानी पटना के एक गांव में सामने आया है। यहां एक शादी में शामिल हुए 95 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए। बड़ी बात ये है कि के दो दिन बाद ही 30 साल के दूल्हे की मौत हो गई। दूल्हा गुरुग्राम में सॉफ्टवेयर इंजीनियर था। कोरोना का परीक्षण किए बिना ही उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया। बताया जा रहा था कि इस शादी में करीब साढ़े तीन सौ लोग शामिल हुए थे।

पटना के जिला प्रशासन को पालीगंज गांव में दूल्हे की मौत के बारे में पता चला, जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने शादी में शामिल रिश्तेदारों का परीक्षण किया गया। यह गांव पटना से 50 किलोमीटर दूर है। 15 जून को शादी समारोह में शामिल होने वाले 15 लोग कोरोना संक्रमित मिले। प्रशासन ने कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग शुरू की तो 80 से ज्यादा लोग कोरोना वायरस की चपेट में पाए गए।

बताया जा रहा है कि दूल्हा 12 मई को शादी के लिए अपने गांव दीहपाली पहुंचा था। इस दौरान उसमें कोरोना के लक्षण भी नजर आए, लेकिन परिजनों ने शादी नहीं टालने का फैसला लिया। शादी के दो दिन बाद उसकी हालत बिगड़ी और पटना एम्स ले जाते समय उसकी मौत हो गई। जिला प्रशासन को जब दूल्हे की मौत का पता चला तो उन्होंने शादी में शरीक हुए सभी मेहमानों का कोरोना परीक्षण कराया। जिसमें अब तक 95 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आ चुकी है।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top