रुद्पुर :बीते दिन रुद्रपुर में शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने खनन व आपदा संबंधी समीक्षा बैठक की जिसमे विधायकों समेत कई जिलास्तरीय अफसर मौजूद थे। वहीं इस बैठक में डीएम से नाराज किच्छा विधायक राजेश शुक्ला ने जिला प्रभारी मंत्री की बैठक का बहिष्कार किया। मंत्री के समझाने पर भी वह नहीं माने। उन्होंने डीएम पर याददाश्त कमजोर शब्द कहने का आरोप लगाते हुए कहा कि इससे उनका अपमान हुआ है।

आपको बता दें कि शहरी विकास मंत्री व जिला प्रभारी मंत्री मदन कौशिक ने शुक्रवार को अपराह्न करीब ढाई बजे कलक्ट्रेट सभागार में आपदा प्रबंधन व डीडीए की समीक्षा कर रहे थे। इस बीच करीब तीन बजे किच्छा विधायक राजेश शुक्ला भी पहुंच गए।

शुक्ला ने जिलाधिकारी से खनन टैक्स से उनके क्षेत्र में हुए कार्यों का हिसाब मांगा तो डीएम नीरज खैरवाल ने उनकी याददाश्त कमजोर होना बताया। इससे वह नाराज हो गए और गुस्से में यह कहते हुए बैठक का बहिष्कार किया कि संतोषजनक जवाब देने के बजाय डीएम उनकी खिल्ली उड़ा रहे हैं। यह बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। जिलाधिकारी का रवैया अपमानजनक है। अफसर विधायकों को कोई तवज्जों नहीं दे रहे हैं।

विधायक ने सवाल करते हुए कहा कि खनन टैक्स के रूप में जो मद इकट्ठा हो रहा है उससे खनन क्षेत्र की डंपरों से खराब ग्रामीण सड़कों पर कितना पैसा खर्च हुआ। आपदा मद में किच्छा क्षेत्र में कहां-कहां पैसा खर्च हुआ। कोरोना की टेस्‍टि‍ंंग की रिपोर्ट आने में काफी देरी हो रही है। कहा कि जिलाधिकारी हमेशा विधायकों को अपमानित करते हैं। उनका रवैया जनप्रतिनिधियों के लिए ठीक नहीं है। जनता का पैसा है। डीएम इसके मालिक नहीं है।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top