उत्तरकाशी : गाय को हिन्दू धर्म में माँ का दर्जा देकर गौ माता के नाम से पुकारा जाता है | गाय को चौपाया जानवरों में सीधा जानवर माना जाता है और लोग इस जानवर को आस्था की दृष्टि से देखते हैं। हिंदू धर्म में गौ माता की पूजा की जाती है। सरकारें गौ माता की रक्षा का दावा करती है लेकिन गौमाता के असल रक्षक उत्तराखंड की एसडीआरएफ साबित हुई।

जी हां मामला सुबह का है। उत्तरकाशी के मुख्यालय तामाखानी सुरंग के पास नदी में फंसी एक गाय को एसडीआरएफ ने सकुशल रेस्क्यू किया। यह गाय भागीरथी नदी में बह कर तामाखानी के पास टापू पर फंस गयी। जिसके सूचना एसडीआरएफ को मिलने के बाद सुबह 7 बजे से गाय को निकालने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया गया। पूरे दो घंटे के रेस्क्यू ऑपरेशन चलने के बाद गाय को सकुशल निकाला गया है।

उत्तराखंड की एसडीआरएफ पुलिस गौ माता की असल रक्षक साबित हुई। कड़ी मशक्कत के बाद एसडीआरएफ की टीम ने गौ माता का रेस्क्यू कर गाय को बाहर निकाला। इस दौरान स्थानीय लोगों ने भी टीम की मदद की।

एसडीआरएफ इंस्पेक्टर विकास पुण्डीर ने बताया कि सूचना मिलने के बाद सुबह होते ही एसडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंच गई थी। नदी का जलस्तर आजकल काफी बढ़ा हुआ है। सुबह  नदी का जलस्तर थोड़ा कम था  हमारी टीम से  तेजी से रेस्क्यू कर गाय को सुरक्षित निकाला है। भागीरथी नदी में गाय ऐसी जगह फंस गयी थी जहां से रेस्क्यू करना इतना आसान नहीं था।। लेकिन एसडीआरएफ ने गौ माता को रस्सियों के सहारे सकुशल सुरक्षित बाहर निकाला। हम रेस्क्यू टीम को सलाम करते हैं। रेस्क्यू टीम में उपनिरीक्षक कुलदीप पांडेय, हेड कानि. रवि चौहान, कानि. कृष्णपाल सिंह,सहदेव राणा, रणजीत सिंह , गजेंद्र सिंह  विकास पंवार रेस्क्यू में मोजूद रहे।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top