देहरादून: उत्तराखंड में कोरोना से लगातार दिक्कतें बढ़ रही है। राज्य में पहले सैंपलिंग कम हो रही थी। तब कोरोना के नये मामले सामने नहीं आ रहे थे। अब जब स्वास्थ्य विभाग ने सैंपलिंग बढ़ाई तो सैंपलों की जांच ही नहीं हो पा रही है। सैंपल जांच का बैकलाॅग 10 हजार के करीब पहुंच गया है। राज्य में कोरोना के मामले भी 10 हजार के आंकड़े को पार कर चुके हैं। टेस्टिंग बढ़ने से जहां लगातार कोरोना के मामले सामने आ रहे हैं। वहीं, बैकलाॅग भी बढ़ता जा रहा है।

सरकार की कोशिशों के बाद सैंपलिंग तो बढ़ी है लेकिन, जांच के लिए भेजे गए सैंपल का बैकलॉग अब सरकार के लिए चिंता का कारण बन रहा है। हरिद्वार, पौड़ी और पिथौरागढ़ जिले में सबसे ज्यादा सैंपलों की जांच होनी बाकी है। राज्य में पांच सरकारी और पांच निजी पैथोलॉजी लैब में जां कर रही हैं। इसके अलावा सरकार ने सभी जिलों को सैंपल जांच के लिए ट्रू नेट मशीनें दी हैं। जिससे संदिग्ध मरीज में कोरोना संक्रमण का शीघ्र पता लग सके। हरिद्वार जिले में 1621, पौड़ी में 1249, पिथौरागढ़ में 1258, उत्तरकाशी में 834, अल्मोड़ा में 1057 और बागेश्वर, चमोली, चंपावत जिले में सैंपल की वेटिंग पांच सौ से अधिक है।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top