देहरादून: राज्य में पिछले दो दिनों से लगातार भारी बारिश का दौर जारी है। आज भी राज्य के कई इलाकों में बारिश हुई है। रुक-रुक कर हो रही मूसलाधार बारिश ने जनजीवन को प्रभावित कर दिया है। राज्यभर में बारिश से हुए भूस्खलन के कारण 175 सड़कें बंद हो गई। कुछ सड़कों को खोल दिया गया है, जबकि कई सड़कों को अब तक नहीं खोला जा सका है। दो दिनों में हुई बारिश के दौरान रुद्रप्रयाग के सिरवाड़ी बांगर और टिहरी के गंगी में अतिवृष्टि से भारी नुकसान हुआ। मद्महेश्वर मंदिर परिसर में पानी घुस गया। पुजारी और अन्य लोगों ने किसी तरह जान बचाई।

ऋषिकेश और हरिद्वार में अब भी गंगा का जलस्तर खतरे के निशान के आसपास बना हुआ है। केदारनाथ पैदल मार्ग कल खोजल दिया गया था। जबकि हाईवे बांसवाड़ा में दिनभर रहा बंद रहा। बदरीनाथ, माणा समेत कई गांवों में बिजली आपूर्ति ठप। उत्तरकाशी में भटवाड़ी बाजार व आसपास के कई गांवों में भूस्खलन हुआ।

देहरादून में बिंदाल, रिस्पना का पानी घरों में घुसा, छतों पर चढ़कर बचाई जान। पिथौरागढ़ में गोरी नदी में बनी झील का आकार बढ़कर डेढ़ किमी से अधिक हो गया है। अगर एक साथ यह झील टूटी तो घुरुड़ी से झूलाघाट तक की करीब पांच हजार की आबादी को खतरा पैदा हो सकता है। राज्य में बारिश की वजह से 175 सड़कें बंद हो गई।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top