देहरादून : उत्तराखंड में बारिश का कहर जगह-जगह देखने को मिल रहा है। सबसे ज्यादा बुरा हाल पिथौरागढ़, उत्तरकाशी समेत पहाड़ी जिलों का है जहां जन जीवन अस्त व्यस्त है। कई लोगों की जानें पुश्ता ढहने और बाढ़ के पानी में बहने से हो चुकी है। ऋषिकेश-गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर हिंडोलाखाल में ऑल वेदर रोड का भारी भरकम पुश्ता टूटकर एक दो मंजिले मकान के ऊपर गिर गया, जिससे कमरे में सो रहे तीन भाई बहनों की मलबे में दबकर मौत हो गई। आपको बता दें कि बारिश के कारण राज्य में 235 सड़कें बंद हैं। कई पुल बह गए हैं और मार्ग अवरुद्ध है जिस कारण कई गांवों से सम्पर्क टूट गया है। यमुनोत्री हाईवे कई जगहों पर बंद पड़ा है।

मिली जानकारी के अनुसार बारिश के प्रकोप के कारण शुक्रवार को 147 सड़कें बंद हुई। 168 सड़कें पहले ही खोली नहीं जा सकी थी। इनमें से 80 सड़कों को ही खोला जा चुका है। वहीं 235 सड़कें अब भी बाधित हैं। इनमें 10 स्टेट हाईवे, 9 जिला मोटर मार्ग, 12 सामान्य जिला मार्ग व 115 ग्रामीण मार्ग हैं। वहीं बता दें कि मौसम विभाग ने चार जिले देहरादून, पिथौरागढ़, टिहरी, पौड़ी जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।

जानकारी मिली है कि उत्तराखंड में कई जिलों में भारी बारिश के कारण करीबन 235 सड़कें बंद हो गई हैं। सड़कों को खोलने के लिए पुलिस प्रशासन का रेस्क्यू जारी है। पुलिस द्वारा लोगों और यातायात व्यवस्था को कंट्रोल किया जा रहा है। लोनिवि के विभागाध्यक्ष हरिओम शर्मा के अनुसार राज्य भर में बंद पड़े रास्तों को खोलने के लिए 291 मशीनें लगाई गई हैं। पुलिस,एसडीआरएफ, पीडबल्यूडी के कर्मचारी रास्ते खोलने को लेकर मुस्तैद हैं।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top