केदारनाथ : एक तरफ सरकार ने कोरोना के कहर के बीच चारधाम यात्रा शुरु कर दी लेकिन वहां व्यवस्था अभी भी लाचार है। इसका जीतता जागता उदाहरण देखने को मिला केदारनाथ में। जी हां केदारनाथ से बुरी खबर है। जानकारी मिली है कि गौरीकुंड-केदारनाथ रास्ते में करंट का झटका लगने से घोड़े की मौके पर ही मौत हो गई। मिली जानकारी के अनुसार यात्री घोड़े पर सवार होकर केदारनाथ जा रहे थे तभी बीच रास्ते में बिजली विभाग द्वारा बिछाई गई तार पर घोड़े और घोड़े वाले का पैर पड़ गया। जिसमे घोड़े की मौके पर ही मौत हो गई। इस झटके से यात्री औऱ घुड़सवाल सन्न रह गए। इससे लोगों में रोष है। बिजली विभाग की लापरवाही से एक गरीब का कमाई का साधन छिन गया वहीं उसकी और यात्रियों की जान पर बन आई। इसका जवाब कौन देगा ये खुद में एक  बड़ा सवाल है। आखिर कैसे चारधाम यात्रा के दौरान विभाग ने इतनी बड़ी लापरवाही की। ये जानने के बावजूद की यात्रा चालू है ऐसे में लोगों की जान से खिलवाड़ कैसे उत्तराखंड के बिजली विभाग ने की। इसका जवाब लोग सरकार और बिजली विभाग से मांग रहे हैं।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top