देहरादून : उत्तराखंड के दो शिक्षकों ने प्रदेश का नाम देशभर में रोशन किया है। जी हां आपको बता दें कि उत्तराखंड के दो शिक्षकों का चयन राष्ट्रीय पुरुस्कार के लिए हुआ है जो की प्रदेश के लिए गर्व भरा पल है। वहीं इस उपलब्धि पर मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने प्रदेश के दो अध्यापकों को राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार 2020 के लिये चयनित होने पर उन्हें बधाई दी है। आपको बता दें कि राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार प्राप्त करने वालों में प्रधानाचार्य जी.एच.एस.एस पुडकुनी, कपकोट (बागेश्वर) डा. केवलानन्द काण्डपाल तथा उप प्रधानाचार्य एकलव्य मॉडल रेजिडेंशियल स्कूल जोगला, कालसी (देहरादून) सुश्री सुधा पैन्यूली शामिल हैं। इन शिक्षकों ने एक गुरु की भूमिका निभाते हुए स्कूल और स्कूल के बच्चों के भविष्य के लिए अपनी जिम्मेदारी बखूबी निभाई।

बता दें कि दोनों शिक्षकों द्वारा उत्तराखंड का मान बढ़ाने पर मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि राष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित हमारे इन अध्यापकों ने देश में प्रदेश का नाम रोशन किया है। उन्होंने इस सम्मान को अन्य शिक्षकों के लिये भी प्रेरणादायी बताया है। उन्होंने कहा कि देश में एकलव्य मॉडल रेजिडेंशियल स्कूलों में सम्मानित होने वाली सुश्री सुधा पॅन्यूली पहली अध्यापिका हैं, यह भी प्रदेश के लिये गर्व की बात है।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top