उधमसिंह नगर : उत्तराखण्ड सहकारी समिति द्वारा जिला उधम सिंह नगर सहायक निबंधक के द्वारा प्रबंध निदेशक, सचिवों को एक आदेश जारी करते हुए कहा गया है कि जिले में यूरिया उर्वरक की भारी कमी  है। इसलिए किसानों को प्रत्येक एकड़ पर मात्र दो बैग यूरिया ही दिया जाए तथा  क्रय विक्रय समितियां प्रत्येक कृषक को अधिकतम पांच बैग ही यूरिया आधार कार्ड के अनुसार बेचें। साथ ही इन निर्देशों का कड़ाई से पालन कराते हुए अधिकारियों व कर्मचारियों की लापरवाही पर अनुशासनात्मक कार्यवाही की भी बात कही है। इस प्रकार उत्तराखंड के मैदानी क्षेत्रों में धान की फसल का सीजन चल रहा है जिसमें यूरिया उर्वरक की भारी मात्रा में आवश्यकता होती है। ऐसे में सरकार द्वारा यूरिया उर्वरक पर इस प्रकार रोक लगाया जाना किसानों के लिए बेहद परेशानियां पैदा कर सकता है। उत्तराखंड में उधम सिंह नगर जिला धान और चावल के लिए पूरे उत्तर भारत में सर्वाधिक चावल की आपूर्ति करता है तीज फसल चक्र में इस प्रकार यूरिया उर्वरक की कमी होना सरकार पर सवालिया निशान लगाता है।

इस मामले में पूर्व राज्यमंत्री डॉ गणेश उपाध्याय ने उत्तराखंड सरकार के इस रवैया पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि उत्तराखंड का किसान पूरे उत्तराखंड के लिए अध्ययन की व्यवस्था करता है। वहीं उत्तराखंड की सरकार पूरी तरह फेल हो चुकी है, जिस कारण अब यूरिया जैसे आवश्यक उर्वरकों को इस प्रकार वितरण के लिए सरकार ने पाबंदी लगा दी है।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top