बिहार : कोरोना के डर ने लोगों को इस कदर डरा दिया है कि लोग अपनों से भी दूरी बना रहे हैं. देश और दुनिया में ऐसे कई मामले सामने आ चुके हैं. ऐसा ही एक मामले बिहार के सुपौल में सामने आया है. इलाज के लिए ले जा रहे कोरोना संक्रमित की मौत होने पर स्वास्थ्य कर्मी एंबुलेंस छोड़कर फरार हो गए. मामला सुपौल जिले के त्रिवेणीगंज का है, जहां अस्पताल लाने के दौरान एक कोरोना पीड़ित व्यक्ति की एंबुलेंस में ही मौत हो गई. इससे उस एंबुलेंस में मौजूद स्वास्थ्यकर्मी इस कदर डर गए कि वो एंबुलेंस को वहीं छोड़कर भाग निकले. मरीज की मौत होते ही अस्पताल परिसर से एंबुलेंस कर्मी उसे छोड़कर निकल गए. घटना की जानकारी देते हुए अनुमंडलीय अस्पताल के सुप्रीटेंडेंट डॉ. आरपी सिन्हा ने बताया गया कि कोरोना पीड़ित को छातापुर पीएचसी से लाकर यहां भर्ती किया गया था.

मरीज की मौत के बाद एंबुलेंस में उनकी पत्नी बैठी रही लेकिन कोई उनकी सुध लेने नहीं आया. कोरोना पीड़ित की मृत्यु के बाद घंटों तक अफरा तफरी का माहौल अस्पताल परिसर में बना रहा. वहीं, त्रिवेणीगंज अस्पताल के प्रबंधक प्रेम रंजन ने कहा कि मृतक की पत्नी जो कोरोना पॉजिटिव हैं उन्हें होम क्वारनटीन में रखा जाएगा. कोरोना पीड़ित का शव इस तरह खुले में पड़ा रहना राज्य के स्वास्थ्य व्यवस्था के दावों की पोल खोल रहा है.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top