देहरादून: भाई हर राखी पर बहन की रक्षा का संकल्प लेता है। हर दिक्कत के वक्त उसका हौसला और सहारा बनने का प्रण लेता है। बहन भाई की लंबी उम्र की कामना करती है। भाई-बहन के इस प्यार में उत्तराखंड परिवहन निगम भी पिछले कई सालों से अहम भूमिका निभाते आ रहा है। निगम की बसें हर साल राखी पर साल बहनों को मुफ्त में उनके भाइयों तक पहुंचाने का काम करती हैं। इस बार भी रोडवेज अपने इस वायदे और कर्तव्य को निभाने के लिए तैयार है। लाॅकडाउन में बसें नहीं चल रही हैं। माली हालत इतनी खराब है कि कर्मचारियों को वेतन देने तक की स्थिति में नहीं है। बावजूद निगम ने तय किया है कि रक्षाबंधन पर बहनों के लिए मुफ्त बस संचालन किया जाएगा।

रक्षाबंधन पर उत्तराखंड रोडवेज बसों में महिलाएं राज्य के भीतर मुफ्त यात्रा कर सकेंगी। शासन ने आदेश जारी कर दिया है और प्रबंध निदेशक को कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं। सरकार पिछले लम्बे समय से रक्षाबंधन पर बहनों को रोडवेज की बसों में निशुल्क यात्रा की सुविधा देती आई है। इस बार कोरोना महामारी और लॉकडाउन के बाद निगम की आर्थिक स्थिति बेहद खराब है। इस कारण शासन स्तर पर काफी विचार विमर्श के बाद रक्षाबंधन पर निशुल्क यात्रा का फैसला लिया गया ताकि बहनें अपने भाइयों के घर जाकर पर्व मना सकें। सचिव परिवहन शैलेश बगौली ने शुक्रवार को आदेश जारी कर दिया। इस संबंध में निगम के प्रबंध निदेशक को कार्रवाई करने के लिए कहा गया है। यात्रा के दौरान महिलाओं और बहनों से बसों में कोई किराया नहीं लिया जाएगा।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top