डॉ. अरुण कुकसाल डॉ. उमाशंकर थपलियाल ‘समदर्शी’ खुशनुमा व्यक्तित्व, जीवन की जकड़ता से दूर, ‘जीवन चलने का नाम, चलते रहो सुबह और शाम’ की तर्ज पर हर समय गतिशील एवं ऊर्जावान, जीवन के 75वें पायदान पर दुनिया से हमेशा के लिए मुक्त हुए। परन्तु जीवन को अलविदा कहने के क्षण तक बुलन्द हौसला लिए अभी […]

The post हर दिल अज़ीज, डॉ. उमाशंकर थपलियाल ‘समदर्शी’: जन्मदिन पर‌ नमन appeared first on Devbhoomi Media.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top