किच्छा (मोहम्मद यासीन) : उधमसिंह नगर में किच्छा के वार्ड नंबर 13 बाल्मीकि बस्ती के लोग ने कोरोना की जांच के लिए पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम को सैंपलिंग देने से मना कर दिया। मामला मंगलवार का है। बाल्मीकि बस्ती के लोगों का साफ कहना है कि पिछली बार हमारी बस्ती के 72 लोगों को एक होटल में संस्थागत क्वारंटीन किया गया था लेकिन होटलों में बद इंतजामी के कारण उन्हें बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ा। साथ ही उन सभी लोगों के घरों में उनके बच्चों को और बुजुर्गों का पालन पोषण करने के लिए कोई भी इंतजाम नहीं किया गया। उनका कहना है कि सरकार और प्रशासन की लापरवाही से हमारे परिवार के तमाम लोग होटलों में बदइंतजामी का शिकार हुए। उनका साफ कहना था कि जब तक उन्हे होम क्वारंटीन किये जाने का सरकारी आश्वासन नहीं मिलेगा वह सैंपलिंग नहीं देंगे। मौके पर उपस्थित स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों ने कहा कि होम कोरेंटिन करने का कार्य शासन प्रशासन की गाइडलाइन के मुताबिक होता है,  वह मात्र सैंपल करने के लिए उनकी बस्ती में आए हैं। वह इस प्रकार का कोई भी आश्वासन देने में सक्षम नहीं है। उन्होंने कहा कि हम पूरी तरह सैंपल लेने को तैयार हैं।टीम को बाल्मीकि बस्ती के लोगों का विरोध झेलना पड़ा। भारी विरोध के चलते घंटो तक समझाने बुझाने के बाद भी उनके ना मानने पर स्वास्थ्य विभाग की टीम बैंरग लौट गयी।

ज्ञात रहे कुछ दिन पूर्व भी स्वास्थ्य विभाग की टीम कंटेन्मैंट जोन बाल्मीकि बस्ती वार्ड नंबर 13 में सैंपल करने पहुंची थी । परंतु बस्ती के लोगों ने सैंपल नहीं होने दी और स्वास्थ्य विभाग की टीम को उनके विरोध का सामना करते हुए बैरंग लौटना पड़ा। मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम में सुरेंद्र गुप्ता, किरन पाण्डे आदि शामिल थे।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top