file photo

देहरादून : उत्तराखंड में मौसम की मार जारी है। लगातार हो रही भारी बारिश के कारण जनजीवन पूरी तरह पटरी से उतरता नजर आ रहा है। लगातार हो रही बारिश के कारण मूसरी से लेकर बद्रीनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्री, केदारनाथ, पिथौरागढ़ समेत राज्य के विभिन्न जिलों में कई सड़कें बंद हो गई हैं। इन मार्गों पर सफर खतरनाक हो गया है। उत्तराखंड में बारिश का दौर जारी है। जगह-जगह भूस्खलन ने परेशानी बढ़ा दी है। ऋषिकेश-गंगोत्री नेशनल हाईवे नागणी के पास बंद हो गया है। हाईवे पर रविवार शाम को भारी बोल्डर गिर गए थे। बोल्डर हटाने का काम जारी है।

यमुनोत्री हाईवे भी राणा चट्टी के पास बोल्डर और मलबा आने से बंद है। बारिश के कारण हाईवे पर बार-बार मलबा और बोल्डर आ रहे हैं। उधर, चमोली जिले में रातभर हुई बारिश के बाद सोमवार सुबह बदरीनाथ हाईवे भी मलबा आने से क्षेत्रपाल में बंद हो गया है। घाट-नंदप्रयाग सड़क भी नंदप्रयाग से करीब तीन किलोमीटर की दूरी पर बंद है। गोपेश्वर-मंडल-ऊखीमठ और गोपेश्वर-पोखरी सड़क भी जगह-जगह पर बंद है। इसके कारण ग्रामीणों और बदरीनाथ धाम की यात्रा पर जा रहे यात्रियों को कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा है।

मसूरी में भी लगातार बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। मसूरी देहरादून मार्ग पर कोलू खेत में पानी वाले बैंक के पास भूस्खलन से मार्ग क्षतिग्रस्त हो गया है। जिससे लोगों को आवाजाही में खासी परेशानी हो रही है। डीएम आशीष श्रीवास्तव ने भी मौके पर पहुंचकर निरक्षण किया और जल्द मार्ग को दुरुस्त करने के निर्देश दिए हैं। मसूरी-देहरादून मार्ग, मसूरी-कैंपटी मार्ग, मसूरी-टिहरी मार्ग पर कई जगह मलबा आने से आवाजाही खतनाक हो गई है। इसके अलावा कुमाऊं मंडल में भी कई मार्ग बंद हैं। लगातार हो रही बारिश लोगों के लिए आफत बनकर बरस रही है।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top