उधम सिंह नगर (मोहम्मद यासीन) प्यार करने वाले कभी डरते नहीं, जो डरते हैं वो प्यार करते नहीं। उत्तराखंड के उधम सिंह नगर जिले की किच्छा विधानसभा में भी एक लड़के और लड़की की प्रेम कहानी कुछ लोग ऐसे ही गुनगुना रहे है। यह दोनों लम्बे समय से एक दूसरे के साथ प्रेम संबंध में थे औऱ शादी करना चाहते थे। वहीं आज इनका विवाह हुआ। विवाह बंधन की यह रस्म समाजसेवी डॉ गणेश उपाध्याय की मौजूदगी में निभाई गई। विवाह बंधन में बंधने वाली लड़की का कन्यादान डॉ गणेश उपाध्याय ने करते हुए वर वधु को आशीर्वाद भी दिया। इस शादी का सारा इंतजाम गणेश उपाध्याय ने ही किया। शान्तिपुरी क्षेत्र के श्रीलंका टापू में एक अनोखी शादी देखने को मिली। शादी में ना बैंड बाजा था, ना बारात, मन्दिर में करायी शादी।

प्रेमी युगल विवाह की जिद पर अड़े रहे

दरअसल युगल जोड़ी में पिछले कुछ महीनों से प्रेम चल रही थी लेकिन परिजन शादी को तैयार नहीं थे। बात बिगड़ने की नौबत आने पर थाने कोतवाली तक पहुंचने से पहले ही मामला स्थानीय समाजसेवी पूर्व दर्जा राज्यमंत्री डॉ० गणेश उपाध्याय तक पहुंचते ही उन्होंने दोनों पक्षों को समझाने और शादी के लिए मनाने का जिम्मा उठाया लेकिन तमाम कोशिशों के बाद भी परिजन विवाह को राजी नही हुए। परिजनों की नाराजगी के बावजूद प्रेमी युगल विवाह की जिद पर अड़े रहे। जिसके बाद डॉ० गणेश उपाध्याय व महिपाल सिंह बोरा द्वारा श्रीलंका टापू निवासी प्रेमी युगल ममता और श्यामपुर के बालिग और राजी खुशी होने पर उनका विवाह गांव के ही मॉ पूर्णागिरी व मॉ कालिका मन्दिर प्रांगण में विधि विधान से सम्पन्न करवा दिया गया।

इस दौरान डॉ० उपाध्याय ने कहा कि वह जल्द ही क्षेत्र के तमाम समाजसेवियों को साथ लेकर निर्बल, असहाय व जरुरतमंद लोगों के लिए एक वैवाहिक परिचय सम्मेलन का आयोजन किच्छा विधानसभा क्षेत्र में करवायेंगे। जिसके लिए विस्तृत रुपरेखा तय की जा रही है। विवाह कार्यक्रम पुरोहित कृष्ण मोहन पाण्डेय द्वारा सम्पन्न करवाया। उनके साथ तमाम ग्रामीण इस विवाह के साक्षी बने।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top