हल्द्वानी : देश में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए न सिर्फ जन जागरूकता चलाई जा रही है। बल्कि राज्य का आयुर्वेदिक महकमा लोगों को इम्युनिटी बूस्टर किट भी उपलब्ध करा रहा है, अब तक राज्य में 1 लाख से अधिक किट बांट दी गई है, नैनीताल जिले की बात करें तो यहां 13 हजार से अधिक लोगों को आयुर्वेदिक विभाग द्वारा डॉक्टरों के सलाह और कोरोना से जागरूक करने के साथ-साथ इम्युनिटी बूस्टर किट भी उपलब्ध कराई जा रहे हैं, लेकिन आयुर्वेदिक डॉक्टरों के यह भी संज्ञान में आया है कि लोग कोरोना से बचने के लिए आयुर्वेदिक काढ़ा दिन में दो से अधिक बार इस्तेमाल कर रहे हैं जबकि डॉक्टरों का स्पष्ट कहना है कि कोविड-19 कोरोनावायरस से जन जागरूकता के साथ यदि आप काढ़े का इस्तेमाल कर रहे हैं तो उसे केवल दिन में दो बार इस्तेमाल करना चाहिए सुबह और शाम ज्यादा मात्रा में लेने से यह शरीर को नुकसान भी पहुंचा सकता है। इससे पेट में गैस और जलन की शिकायत हो सकती है। लिहाजा लोगों को सही जानकारी देने के लिए जिला आयुर्वेदिक विभाग प्रत्येक क्षेत्र में जाकर लोगों को जन जागरूक करते हुए आयुर्वेदिक किट भी बांट रहा है।

अत्यधिक काढ़े के सेवन के नुकसान…

1. चक्कर आना 2. आंखों के आगे अंधेरा होना 3. नाक से खून आना 4. पेट में जलन रहना 5. मुंह में छाले हो जाना 6. पेशाब में जलन 7. कब्ज या दस्त जैसी समस्या 8. त्वचा पर छोटे-छोटे दाने उभर आना 9. गैस या अपच की श‍िकायत होना 10. अचानक से वजन में ज्यादा कमी होना।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top