आपने आज तक कई अधिकारियों कर्मचारियों द्वारा रिश्वत लेने की खबर पढ़ी, सुनी या देखी होगी। आपने अब तक 5000,1000, 50 हजार लाख या 5-10 लाख रिश्वत लेते देखा या सुना होगा लेकिन तेलंगाना में एक तहसीलदार ने इतनी रिश्वत ली कि नोटों को गिनने के लिए मशीन मंगानी पड़ी। नोटों को देख छापा मारने आई टीम हैरान रह गई। जी हां एंटी करप्शन ब्यूरो ने बड़ी कार्रवाई करते हुए एख तहसीलदार को एक करोड़ 10 लाख की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। जानकारी मिली है कि आरोपी किसारी में तहसीलदार है जिसका नाम ई. बालाराजू नागाराजू है।मीडिया रिपोर्ट के अनुसार एसीबी की टीम ने शुक्रवार देर रात तहसीलदार के घर छापा मारा, जहां एसीबी की टीन ने तहसीलदार को 1 करोड़ 10 लाख रुपये की रिश्वत पकड़ा। एसीबी अधिकारियों के अनुसार 47 वर्षीय नागराजू ने मडचल-मल्काजगिरी जिले में किसर मंडल में रामपल्ली में स्थित 28 एकड़ जमीन के विवाद को सुलझाने की ऐवज में रिश्वत मांगी थी। छापे की कार्रवाई 15 अगस्त को सुबह तक जारी रही। जानकारी के अनुसार, एसीबी ने तहसीलदार नागराजू के साथ गांव के रेवेन्यू अधिकारी बी सायराज को भी पकड़ा है।

रिश्वत के पैसे गिनने के लिए मंगानी पड़ी मशीन

आपको बता दें कि तेलंगाना के किसारा मेडचल मलकाजगिरी जिले का मंडल मुख्यालय है। रिश्वत की रकम बड़ी मात्रा में होने के कारण एसीबी को पैसे गिनने के लिए मशीन मंगवानी पड़ी। बता दें कि हैदराबाद के एक प्रमुख वाणिज्यिक और आवासीय इलाके एएस राव नगर में आरोपी के घर पर छापा मारा गया था। एसीबी के अधिकारियों ने बताया कि रिश्वत के इस खेल में बिचौलियों को भी हिरासत में लिया गया है। इसमें रियल एस्टेट डीलर सी श्रीनाथ और कंदादी अंजी रेड्डी भी शामिल है। फिलहाल सभी आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। बरामद किए गए पैसों में ज्यादातर 500 रुपये के नोट हैं। साथ ही 200 और 100 के नोट भी शामलि। नोटों को देख तो एसीबी की टीम भी हैरान रह गई।वहीं इसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो गया जिस पर लोग जमकर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं और जमकर कमेंट शेयर कर रहे हैं।

om Keesara Tahsildar Nagaraju E Bala Nagaraju and his two associates by ACB, Telangana, after laying a trap. The accused tried to settle a land dispute by taking this huge bribe. @TOIHyderabad #Hyderabad pic.twitter.com/ZgXwWNBg4A





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top