यू ही भारतीय सेना को जांबाज नहीं कहते। अपनी जान पर खेलकर कइयों की जान बचाई भारतीय सेना के जवानों ने। जी हां उत्तरी कश्मीर के बारामुला में शुक्रवार को सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में तीन आतंकियों को तो मार गिराया ही साथ ही 12 स्थानीय लोगों को उनके चुंगल से बचाया। आपको बता दें कि मारे गए आतंकियों ने 1 मासूम बच्चे समेत दो परिवार के 12 लोगों को बंधक बनाया था। सुरक्षाबलों ने जान पर खेलकर सभी को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया और तीन आतंकियों को मार गिराया। वहीं इस ऑपरेशन में तीन जवान घायल हो गए हैं। इनमे सेना के एक मेजर और दो पुलिसकर्मी जख्मी हो गए। जिनका अस्पताल में इलाज चल रहा है।

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि उत्तरी कश्मीर के बारामूला जिले के पत्तन इलाके के येदिपोरा में आतंकवादियों के होने की खास जानकारी मिली थी। इसके बाद सुरक्षाबलों ने इलाके में घेरा डाल दिया और सर्च ऑपरेशन चलाया। इस दौरान इलाके में छिपे आतंकवादियों ने सुरक्षाबलों की एक टीम पर फायरिंग शुरू कर दी। जवानों ने आतंकियों की गोलीबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया। इस दौरान मुठभेड़ में तीन आंतकियों को मार गिराया है औऱ तीन जवान घायल हो गए हैं।

मुठभेड़ के दौरान दो विशेष पुलिस अधिकारियों को भी चोटें आईं जिसके बाद उन्हें उपचार के लिए स्थानीय अस्पताल में ले जाया गया। अधिकारी ने कहा कि इस बीच, पुलवामा जिले के बाभर इलाके में आतंकवादियों ने सुरक्षा बलों के एक दल पर गोलीबारी शुरु कर दी। उन्हें इलाज के लिए 92 बेस अस्पताल भेजा गया है।

The post यूं ही नहीं कहते भारतीय सेना को जांबाज, 3 आतंकियों को मारकर 12 बंधक लोगों को छुड़ाया first appeared on Khabar Uttarakhand News.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top