हल्द्वानी में ससुरालियों के उत्पीड़न का शिकार हुई एक बहन को इंसाफ दिलाने के लिए भाई अपने घर में ही पिछले 6 दिन से आमरण अनशन पर है। लेकिन उसकी सुध लेने वाला कोई नहीं है कमलूवागांजा का रहने वाला चंदन कफलटिया अपने घर में ही आमरण अनशन शुरू कर अपनी बहन को इंसाफ दिलाने के लिए सरकार और पुलिस महकमे से गुहार लगा रहा है। अनशन पर बैठे चंदन का कहना है कि उनकी बहन की शादी 2013 में तारा नवाड़ गौलापार क्षेत्र में गौरव बेलवाल  के साथ हुई थी। ससुराल वाले अक्सर उनकी बहन के साथ मारपीट करते थे। बीते 28 जून को मारपीट के बाद बेहोशी की हालत में उनकी बहन पुष्पा बेलवाल को हल्द्वानी के बेस अस्पताल में भर्ती कराया गया था जिसके बाद 5 जुलाई को बरेली के राममूर्ति अस्पताल में उनकी बहन पुष्पा बेलवाल की मौत हो गई।

थानाध्यक्ष को निलंबित करने की मांग 

भाई चंदन का आरोप है की बहन के साथ मारपीट होने से पहले भी 112 नंबर पर उनके द्वारा कॉल की गई थी बावजूद इसके चोरगलिया थाना पुलिस ने कोई मदद नहीं की। लिहाजा उनकी रिपोर्ट दर्ज करने में भी पुलिस ने काफी लेटलतीफी और लापरवाही की है। अनशन में बैठे भाई का कहना है कि जब तक उनकी बहन को इंसाफ नहीं मिलता उनके ससुरालियों के ऊपर कार्रवाई के साथ ही दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ भी कार्रवाई नहीं होती तब तक वह अपना अनशन जारी रखेंगे। मृतक के भाई ने थानाध्यक्ष को निलंबित करने की मांग की है।

उधर सीओ शांतनु पराशर का कहना है कि मामले में मुकदमा दर्ज किया जा चुका है और ससुराल वालों ने अरेस्टिंग स्टे लिया हुआ है। लिहाजा पुलिस उन्हें गिरफ्तार नहीं कर सकती लेकिन पुलिस अपनी जांच गंभीरता से कर रही है। वहीं भाई के अनशन पर बैठने की पुलिस को जानकारी तक नहीं है। हालांकि अब पुलिस अनशन पर बैठे भाई से बात करने की बात कह रही है।

The post मृतक बहन को न्याय दिलाने के लिए अनशन पर भाई, थानाध्यक्ष को निलंबित करने की मांग first appeared on Khabar Uttarakhand News.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top