सितारगंज : यूपी के हाथरस में नाबालिग मनीषा के साथ हुई दरिंदगी से उत्तराखंड के वाल्मीकि समाज के लोगों में रोष है। उत्तराखंड में वाल्मीकि समाज के लोगों ने आरोपियों को फांसी की सजा देने की मांग की। उत्तराखंड से मनीषा को न्याय दिलाने की मांग उठी। वाल्मीकि समाज के लोगों ने ये मामला फास्टकोर्ट में ले जाने और आरोपियों को फांसी की सजा देने की मांग की।

बता दें कि सितारगंज के वाल्मीकि समाज के लोगों ने बड़ी संख्या में कोतवाली गेट के सामने प्रदर्शन किया। इस दौरान पूर्व विधायक नारायण पाल भी इस प्रदर्शन में शामिल रहे। प्रदर्शन कर रहे वाल्मीकि समाज के लोगों ने रोष व्यक्त करते हुए कहा कि हाथरस में जिस तरह एक नाबालिक के साथ दुष्कर्म हुआ और दरिंदगी हुई। बेटी की रीढ़ की हड्डी तक तोड़ दी गयी और जीभ काट दी गई, ऐसे दरिंदों को फांसी की सजा होनी चाहिए। आपको बता दें कि नाबालिक मनीषा के साथ 14 सितंबर को गैंगरेप किया गया और उसे अस्पताल में भर्ती किया गया था जहां 15 दिन बाद इलाज के दौरान सफदरजंग अस्पताल में आंखरी साँस ली। नाबालिक के साथ दुष्कर्म करने वालेआरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

पीड़िता के परिवार को मुआवजा देने की मांग

उत्तराखंड केलोगों ने दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाही करने की मांग की और ये केस फास्टकोर्ट में चलाने औऱ आरोपियों को फांसी की सजा दी जाने की मांग की  है। वहीं विधायक पाल ने वाल्मीकि समाज के साथ खड़े हो दोषियों पर फांसी की सजा दिए जाने की मांग की ताकि ऐसे पीड़िता के परिवार को इंसाफ मिल सके। वहीं पीड़िता के परिवार को सरकार द्वारा सुरक्षा देने और मुआवजा देने की मांग भी की गई।

The post हाथरस में बेटी के साथ दरिंदगी, उत्तराखंड में उठी दोषियों को फांसी की सजा देने की मांग first appeared on Khabar Uttarakhand News.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top